दुमका के गुहियाजोड़ी में धूमधाम से मना संताल परगना स्थापना दिवस, मेले में उमड़ी ग्रामीणों की भीड़

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 12/22/2017 - 22:20

Dumka: दुमका के गुहियाजोड़ी गांव के ढुहु कुटकू मैदान में संताल परगना का स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया. इस मौके पर मेला का भी आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में मांझी, प्रधान, गुडित, नायकी, जोगमांझी और ग्रामीणों ने हिस्सा लिया. सिदो-कान्हू चांद-भैरव फूलो-झानो अखड़ा के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम की शुरुआत इन स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीर पर माल्यार्पण कर की गयी. इसके बाद विभिन्न गांवों से आये ग्रामीणों ने संताल आदिवासी के परम्परागत नाच-गान का प्रदर्शन किया. पूरा मैदान ढोल-नगाड़ों और सिदो-कान्हु चांद-भैरव फूलो-झानो के जयकारे से गूंज उठा. बच्चे, बुजुर्ग, महिला सभी संताल परगना स्थापना दिवस पर काफी उत्साहित नजर आये. ग्रामीणों ने आम सहमति से गुहियाजोड़ी चौक का नाम संताल हुल में शहीद नायकों के नाम पर समर्पित संताल हुल चौकरखा. कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों ने मैदान से गुहियाजोड़ी चौक तक रैली निकाला.

शहीदों की प्रतिमा लगाने की मांग

गुहियाजोड़ी चौक में संताल हुल के शहीदों के नाम पूजा-पाठ किया और चौक में अमर शहीद सिदो-कान्हू चांद-भैरव फूलो-झानो मुर्मू की प्रतिमा लगाने की मांग की. इसके साथ-साथ अखड़ा, मांझी, प्रधान, गुडित, नायकी, जोगमांझी और ग्रामीणों ने 22 दिसम्बर को संताल परगना स्थापना दिवस पर झारखंड में राजकीय अवकाश घोषित करने की मांग की. इन मांगों को लेकर अखड़ा के बैनर तले मांझी, प्रधान, गुडित, नायकी, जोगमांझी और ग्रामीणों ने राज्यपाल के नाम भेजे जाने वाले ज्ञापन में हस्ताक्षर किया.

इसे भी पढ़ेंः कांग्रेस का आरोपः योगेंद्र साव को तंग कर रही रघुवर सरकार, सीएस राजबाला वर्मा गैंग लीडर

जनप्रतिनिधियों से 5 साल का हिसाब मांगने का फैसला

संताल परगना स्थापना दिवस के अवसर पर कार्यक्रम क्षेत्र के आसपास दारू-शराब नहीं बेचा गया. इसके लिये अखड़ा ने सभी ग्रामीणों को धन्यवाद दिया. ग्रामीणों ने यह भी निर्णय लिया चुनाव के समय जब पार्टी नेता, जनप्रतिनिधि गांव आयेंगे तो उनसे पूरे पांच साल का हिसाब लिया जाएगा कि वे उन्होंने और उनकी पार्टी ने गांव और समाज के लिए क्या किया.

कार्यक्रम में ये थे मौजूद

संताल परगना स्थापना दिवस के मौके पर संजय मुर्मू, मंगल मुर्मू, शिवलाल मुर्मू, साहेब मरांडी, स्टेफन मरांडी, बेनार्ड मरांडी, प्रेम मरांडी, शीतल मरांडी, रोशन मुर्मू, आशीष सोरेन, छोटका मुर्मू, अनिल मुर्मू, सीताराम मुर्मू, बाबूराम मुर्मू, मीरू मुर्मू, पार्वती मरांडी, कुमुद्नी टुडू, मरियल टेरीसा मुर्मू, किरानी हांसदा, अनीता मरांडी, लिलमुनी हेम्ब्रोम, जोसफ सोरेन, सुनिराम मरांडी, राशमती किस्कू, एलिजाबेद हेम्ब्रोम, सुनीता टुडू, मुनि मरांडी, बालेश्वर टुडू, बाबुराम मुर्मू, चुड़का मुर्मू, लुकश हांसदा, संजू मरांडी, शिरिल हांसदा, एग्नशुस मुर्मू समेत कई लोग मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...