देवघर : अस्थायी गुमटी की जांच के दौरान भारी मात्रा में फर्जी आयुर्वेदिक औषधि जब्त

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/06/2018 - 10:38

Deoghar : ड्रग इंस्पेक्टर प्रणव प्रभात ने देवघर-गिरिडीह मुख्य पथ पर स्थित अस्थायी गुमटी की जांच की. जहां से भारी मात्रा में आयुर्वेदिक औषधियों को जब्त किया गया. प्रणव प्रभात ने जब्त किये गये औषधियों को नगर थाना प्रभारी बिनोद कुमार के जिम्मे सौंप दिया. वही प्रणव प्रभात ने फर्जी तरीके से लेवल लगाकर व औषधि बेचने को लेकर गुमटी मालिक पर केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. जांच दल में औषधि निरीक्षक गिरिडीह अमित कुमार, दुमका राजेश कुमार व देवघर के प्रणव कुमार प्रभात शामिल थे.

दो अलग-अलग कंपनियों में तैयार की गयी है औषधि

डीआइ की टीम ने गुमटी से 60 टयूब प्रासधोनी क्रीम, 72 टयूब तनुश्री ओइंमेंट, 28 पीस सुएरोजेन टोनिक और पांच पीस केशेश्री तेल जब्त किया. जिसे सुची के साथ थाना प्रभारी बिनोद कुमार को सौंप दिया गया है. प्रणव कुमार ने बताया कि जब्त की गयी औषधि दो अलग-अलग कंपनियों में तैयार की गयी है. दोंनो कंपनी द्वारा उक्त दवा बिक्री के लिए असीम को दिया गया था. उक्त औषधि निर्माताओं द्वारा अन्य लोगों की मदद से गिरोह बनाकर जालसाजी और धोखाबाजी से अवैध व्यापार किया जा रहा है.   

इसे भी पढ़ें: नीति आयोग ने झारखंड के जिन जिलों को बताया था पिछड़ा, वहां लीड्स ने किया सर्वे, आंकड़ों ने चौंकाया

इन पर हुई प्राथमिकी दर्ज

जयश्री कुटीर का निर्माता सह मालिक टिंकू चक्रवर्ती, मोनोमोहिणी केमोक्रीन का निर्माता सन्तु सरकार उर्फ दीप रंजन सरकार शर्मा, असीम दास के खिलाफ कारवाई करते हुये प्राथमिकी दर्ज की गयी है. नगर थाना प्रभारी ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है. फिलहाल दवा निर्माता के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...