बैठक से गायब रहने के कारण डीसी ने दिये ईटकी बीडीओ के एक दिन का वेतन काटे जाने का आदेश

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 02/19/2018 - 09:30

Ranchi: स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा बैठक से गायब रहने के कारण ईटकी बीडीओ के एक दिन का वेटन काटे जाने का आदेश दिया गया है. यह आदेश डीसी राय महिमापत रे ने रविवार को विकास भवन में हो रहे समीक्षा बैठक से ईटकी बीडीओ के गायब रहने के कारण दिया है. इस दौरान नगड़ी के दो ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को शो कॉज भी जारी किया गया है और इन दोनों के भी एक एक दिन के वेतन काटने का अदेश दिया है. बैठक के दौरान डीसी ने प्रखंडों की प्रगति बेहद खराब पाया. कहीं एमआइएस डाटा अपलोड नहीं था, तो कहीं सैंकड़ों यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेटस लंबित पाये गये. योजना से संबंधित फोटो अपलोड का आंकड़ा कम पाये जाने पर बुंडू बीडीओ को भी चेतावनी दी गयी.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड के 14 में 10 सांसदों की पत्नी है कमाऊ, अगली बार से बताना होगा कैसे कमाए लाखों रुपये

स्वच्छ भारत मिशन के तहत चल रहे कार्यों से डीसी ने असंतोष जताया

डीसी ने सिल्ली, सोनाहातू, मांडर,बुंडू, खलारी व बुढ़मू समेत अन्य प्रखंडों में स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे शौचालयों की जानकारी ली. स्वच्छ भारत मिशन के तहत चल रहे कार्यों से डीसी ने असंतोष जताया. उन्होंने निर्देश दिया कि एक सप्ताह के अंदर  80 प्रतिशत फोटो टैगिंग का काम दुरुस्त करें. साथ ही जून माह तक 80 प्रतिशत काम पूरा करें. डीसी ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों से यह भी कहा कि काम को लेकर कोई भी  परेशानी है, तो बतायें उसका समाधान निकाला जायेगा. लेकिन काम में किसी भी तरह की कोई कोताही बरदाशत नहीं की जायेगी. डीसी ने डीआरडीए निदेशक संगीता लाल से भी कहा कि सिस्टम को तुरंत दुरूस्त किया जाये और शौचालय से संबंधित हर रोज की रिपोर्ट से अवगत कराया जाये.

इसे भी पढ़ेंः रांची : चर्च कॉम्प्लेक्स के कुलदीप एंड सन्स में ईडी का छापा, PNB के झारखंड हेड भी मौजूद

एसबीएम कंट्रोल रूम बनाने का दिया निर्देश 

प्रखंडों से आनेवाली सूचनाओं को एकत्र करने के उदेश्य से डीसी ने मुख्यालय में एसबीएम कंट्रोल रूम बनाये जाने का भी निर्देश दिया है. कंट्रोल रूम का नोडल पदाधिकारी डीआरडीए निदेशक संगीता लाल को बनाया गया. डीसी को समीक्षा के दौरान लापुंग में कर्मचारियों की कमी का भी पता चला, जिसके बाद उन्होंने डीडीसी को निर्देश दिया है कि लापुंग में कर्मचारियों की कमी को खत्म किया जाये और रातु में कुछ कर्मचारी जो अधिक हैं उन्हें लापुंग भेज दिया जाये. 

 सारे काम अधूरे पड़े हैं, लेकिन राशि का भुगतान हो चुका है: डीडीसी  

बैठक में डीडीसी शशि रंजन ने यह भी कहा कि राशि का भुगतान हो जाने के बाद भी प्रखंडों में काम नहीं हो रहे. सारे काम अधूरे पड़े हैं. ये सारे कार्य मनरेगा के तहत किये जाने वाले हैं. उन्होंने चेतावनी दी है कि मनरेगा के तहत चल रहे कार्यों की जांच मुख्यालय स्तर से करायेंगे. जो बीडीओ गड़बड़ी करते पाये जायेंगे, उनके खिलाफ प्रपत्र क गठित की जायेगी. अब भी लगभग 96000 शौचालय बनाये जाने हैं. 

डीआरडीए निदेशक से  दिव्यांगों की सूची मांगी

स्वच्छ भारत मिशन के तहत दिव्यांगों को ध्यान में रख कर भी शौचालय का निर्माण कराया जाना है. इसी के तहत  डीसी ने डीआरडीए निदेशक संगीता लाल से दिव्यांगों की सूची मांगी है ताकि दिव्यांगों को ध्यान में रख कर भी शौचालय का निर्माण कराया जा सके.

जम्हाई ले रहे रातू के डीपीएम पर पड़ी डीसी की नजर

विकास भवन में हो रहे समीक्षा बैठक के दौरान जम्हाई ले रहे रातू के डीपीएम को भी डीसी ने फटकार लगायी और कहा कि कितने दिनों से नहीं सोये हैं. आपको जम्हाई लेनी है, तो बाहर जाइये.      

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप