गढ़वाः झामुमो ने की अवैध बालू उठाव और तस्करी पर रोक लगाने की मांग

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/09/2018 - 20:31

Garhwa: गढ़वा जिले से हर रोज बड़े पैमाने पर विभिन्न बालू घाटों से अवैध उठाव किया जा रहा है. जिले का बालू उत्तर प्रदेश के शहरों में बेचा जा रहा है. वहीं प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है. बालू लदे ट्रकों को पकड़ा तो जाता है, लेकिन पैसे लेकर छोड़ दिया जा रहा है. झामुमो जिलाध्यक्ष विनोद तिवारी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह बातें कही. उन्होंने कहा कि जिस प्रकार नदियों से बालू का उठाव किया जा रहा है. इससे प्रकृति को भारी नुकसान हो रहा है. जतपुरा, जेनेवा, परासपानी, पतिहारी, राणाडीह, मझिआंव, कल्याणपुर, टंडवा, सुरू, विशुनपुरा, पिपरीकला, अमहर खास तथा डंडा से बड़े पैमाने पर बालू का उठाव मशीन से किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंः खासमहल जमीन लीजधारियों को नये साल का तोहफा, HEC के झोपड़ों में रहने वालों को मिलेगा पक्का मकान

जिले में बालू के नाम पर मची है लूट

उन्होंने कहा कि बालू माफिया नियम-कानून को ताक पर रखे हुए हैं. जिले में बालू के नाम पर लूट मची हुई है. यदि जल्द सरकार इस पर कार्रवाई नहीं करती है तो झामुमो आंदोलन करेगा. उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ दल जन समस्याओं के प्रति उदासीन है. पूर्व विधायक सिर्फ अपना स्वार्थ साधने में लगे हैं. इनका जनता के हित में कोई रूचि नहीं है. स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल समेत विभिन्न मामलों में गढ़वा पिछड़ा है, लेकिन इस ओर किसी का ध्यान नहीं है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में मनोज ठाकुर, आशुतोष पांडेय, राजू दूबे, प्रियम राजपूत, शशि कुमार, राहुल तिवारी, आफताब आलम, कंचन कुमार समेत कई लोग मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः फर्जी नक्सल सरेंडर मामले में सरकार ने कहा गृह मंत्रालय के निर्देश पर कराया जा रहा था सरेंडर, कोर्ट ने 29 जनवरी तक मांगा दस्तावेज

तस्करों पर लगाम लगाने में नाकाम खनन विभाग

बालू तस्करों पर प्रशासन यदा-कदा कार्रवाई करती रहती है. इससे पहले 30 दिसंबर को सदर थाना क्षेत्र के मेढ़ना गांव में विभाग ने दो जेसीबी मशीन, एक पोकलेन, तीन ट्रक को जब्त किया था, वहीं चार बालू संवेदक के आदमी को गिरफ्तार किया गया था. दूसरी ओर केतार थाना क्षेत्र के खोखा सोन नदी में अवैध बालू उठाकर डंप किये गए 42 सौ घन बालू को जब्त किया गया था. जिला खनन पदाधिकारी ने कहा था कि अब क्षेत्र से बालू का अवैध उठाव नहीं होने दिया जायेगा, लेकिन इसके बाद भी बालू का अवैध उठाव और तस्करी जारी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमेंफ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...