गिरिडीह: ठगों की चंगुल से सकुशल वापस लौटे मजदूर, सुनायी आपबीती (देखें विडियो)

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 02/08/2018 - 17:35

Giridih : दलालों की चंगुल में मुम्बई में फंसे झारखंड के 3 जिलों के 65 मजदूरों को सरकार द्वारा गठित टीम के अधिकारियों द्वारा वापस ले आया गया है. वहीं इस मामले में शामिल 4 लोगों में से 2 को गिरफ्तार कर मुम्बई के नागपाड़ा थाना में मामला दर्ज कराया गया है. गुरुवार को हावड़ा-मुम्बई मेल एक्सप्रेस से मजदूरों को सरिया थाना लाया गया. वापस लौटे एक मजदूर ने अपने साथ हुयी ठगी को लेकर बताया कि इन लोगों से नासिर खान, मनोज शर्मा ,राजू शेख द्वारा ओमान में टावर लाइन में काम दिलाने के नाम पर प्रति व्यक्ति 20 से 25 हजार रुपया डोनेशन के नाम पर मांगा गया. उसके बाद ही विदेश भेजे जाने की बात की गयी.

20 जनवरी को बुलाया गया था मुम्बई

उन्होंने बताया कि इसके एवज में हमलोगों से 20 हजार रुपये करके वसूली भी किया गया. साथ ही कलकत्ता में एक कंपनी के ऑफिस में इंटरव्यू भी लिया गया. इसके बाद हमलोगों को 20 जनवरी को मुम्बई बुलाया गया और दो दिनों के बाद पासपोर्ट और बीजा दिए जाने की बात कही गयी, लेकिन पांच दिन बीत जाने के बाद भी एग्रीमेंट पेपर ,पासपोर्ट ,बीजा नहीं दिया गया. जब हमलोगों ने इस एवज उनसे बात की तो प्रति व्यक्ति से 55 हजार रुपया और की मांग की गयी. जब हमलोगों ने कहा कि 25 हजार में बात हुयी थी, आब हमारे पास पैसे नहीं है. हमलोगों ने जब दिया हुआ पैसा वापस मांगा तो उन्होंने पैसे देने से इंकार कर दिया. तब हमलोग को अपने आप को ठगने का पता चला, इस बीच हमलोगों के पास सारा पैसा खत्म हो जाने के कारण कई दिनों तक भूखे प्यासे रहना पड़ा.

इसे भी पढ़ें: पलामू: विजय हत्याकांड में मां-बाप ही निकले कातिल, भेजे गए जेल

झारखंडी एकता संघ के अध्यक्ष असलम अंसारी  ने की मदद

 इसी बीच मुम्बई में समाजसेवा का कार्य कर रहे झारखंडी एकता संघ के अध्यक्ष असलम अंसारी से बात किया गया और उनके पहल और प्रयास से उक्त मामले से झारखंड के कई वरीय अधिकारियों को दी गयी. जिसके बाद हमलोगों के लिए भोजन व अन्य खर्च के लिए पैसा भेजवाया गया, तब जाकर हमलोगों को भोजन नसीब हो पाया. अगर झारखंड सरकार इस दिशा में पहल नहीं करती तो शायद ही हमलोग अपने घर वापस आ पाते. मजदूर ने बताया कि हमलोगों के घर वापसी लाने व गिरोह के दो दलालों को पकड़ कर प्राथमिकी दर्ज करवाने में सरिया एस डी पी ओ दीपक कुमार शर्मा की अहम भूमिका रही.

आये दिन झारखंड  के लोग होते है ठगी के शिकार: विनोद कुमार सिंह पूर्व विधायक )

मजदूरों की वापसी की सूचना पर बगोदर के पूर्व विधायक विनोद कुमार सिंह भी वहां पहुंचे. मौके पर श्री सिंह ने कहा यह घटना बताती है कि झारखंड से बाहर प्रवासी मजदूरों की स्थिति ठीक नहीं है. आये दिन झारखंड से बाहर यहां के मजदूरों से ठगी जालसाजी व किसी घटना में मौत या विदेशों में फंसे होने का मामला प्रकाश में आता ही रहता है. इसलिए झारखंड सरकार को संज्ञान लेते हुए अलग से एक निदेशालय खोलने की जरूरत है ताकि इस तरह के मामले में फंसे लोगों को मुआवजे की राशि व सहायता राशि मिल सके. वहीं इस मामले पर त्वरित पहल करने को लेकर सरिया एस डी पी ओ तथा झारखंडी एकता संघ मुम्बई को बधाई दिया गया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)