भारत का राजकोषीय घाटा लक्ष्य स्वागत योग्य : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 02/16/2018 - 15:47

Washington : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भारत द्वारा अपने वार्षिक आम बजट में रखे गए राजकोषीय घाटे के लक्ष्य का स्वागत करते हुए कहा कि देश राजकोष सुदृढ़ीकरण के रास्ते पर लौट रहा है. अपनी पाक्षिक प्रेसवार्ता में मुद्रा कोष के संचार विभाग के निदेशक गैरी राइस ने कहा कि हम कह सकते हैं कि हम वित्त वर्ष 2018-19 में राजकोषीय घाटे का लक्ष्य (भारत का) सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3.3% पर रखे जाने का स्वागत करते हैं. यह भारत में आर्थिक सुधार को सहयोग देने वाले कदमों को ध्यान में रखते हुए राजकोषीय सुदृढ़ीकरण के पथ पर वापस लौटना है.

इसे भी पढ़ें: सेंसेक्स 196 अंक चढ़ा, निफ्टी 10,600 अंक के पार

2017 और 2018 में अनुमान लगाये गये घाटे से थोड़ा ही कम है राजकोषीय घाटे

उन्होंने कहा कि बजट में रखा गया राजकोषीय घाटे का लक्ष्य 2017 और 2018 में अनुमान लगाये गये घाटे से थोड़ा ही कम है और मुद्रा कोष ने भी इसी की सिफारिश की थी. राइस ने कहा कि हमारा मानना है कि बजट में कर संग्रहण अर्थव्यवस्था में लेनदेन के मूल्य से ज्यादा तेजी से करने का अनुमान लगाया गया है. यह दिखाता है कि सरकार का आकलन है कि वह समान आय और उपभोग से ज्यादा कर संग्रहण कर पाने में सक्षम होगी. हालांकि उन्होंने ध्यान दिलाया कि वर्ष 2017 में माल एवं सेवाकर का कुछ ही अनुपालन हुआ. यदि इसे लागू करने में यह समस्याएं बनी रहती हैं तो कर संग्रहण बजट के अनुमान से कम रह सकता है.

इसे भी पढ़ें: IFAC सर्वे का खुलासा, 64% कारोबारियों ने कहा- GST से उनका कारोबार गड़बड़ाया

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप