उत्तर कोरिया ने रोके सभी न्यूक्लियर टेस्ट, ट्रंप ने कहा- विश्व के लिए अच्छी खबर

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 04/21/2018 - 10:33

Sole: कल तक अपने परमाणु परीक्षण और हथियारों के बल पर ताकत की नुमाइश करने वाले उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने बड़ा फैसला लेते हुए अपने परमाणु एवं लंबी दूरी वाले मिसाइल परीक्षण कार्यक्रम रोक दिए हैं. साथ वह परमाणु परीक्षण स्थलों को बंद करने पर विचार कर रहा है. उत्तर कोरिया, दक्षिण कोरिया और अमेरिका के बीच नए सिरे से परमाणु वार्ता होने की घोषणा के बाद यह ऐलान किया गया है. हालांकि, उत्तर कोरिया की तरफ से की गई इस घोषणा में उसके परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर इच्छुक होने का कोई स्पष्ट संकेत नहीं है.

इसे भी पढ़ें:झारखंड को बीजेपी पसंद है !... 34 में 21 मेयर-अध्यक्ष बीजेपी के, सीएम ने कहा: विपक्ष बहस के लायक नहीं

कहा जा रहा है कि किम जोंग ने ये फैसला अपने देश के हित के लिए लिया है. उत्तर कोरिया की आधिकारिक ‘‘ कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ’’ का कहना है कि किम जोंग उन के इस कदम के पीछे मुल्क की अर्थव्यवस्था और राष्ट्रीय मुद्दों पर फोकस करने की सोच है. किम जोंग उन का यह फैसला काफी अहम माना जा रहा है. उन्होंने यह घोषणा ऐसे वक्त की है, जब वो कुछ दिन बाद ही साउथ कोरिया के राष्ट्रपति से एक समिट में मिलने वाले हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने फैसले का किया स्वागत
न्यूक्लियर टेस्ट पर रोक लगाने के उत्तर कोरिया के फैसले का अमेरिका ने स्वागत किया है. इस घोषणा के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्विट करते हुए कहा, ‘यह उत्तर कोरिया और पूरे विश्व के लिए एक अच्छी खबर है और एक बड़ी प्रगति है.’ साथ ही उन्होंने कहा कि वह किम के साथ होने वाले शिखर सम्मेलन को लेकर उत्साहित हैं. 

इसे भी पढ़ें
बच्चियों से रेप के दोषी को होगी फांसी की सजा ! मोदी सरकार आज ला सकती है ऑर्डिनेंस

फैसले से जापान नहीं संतुष्ट

एक ओर जहां उत्तर कोरिया के फैसले पर अमेरिका ने खुशी जाहिर की है, वही जापान का कहना है कि वह संतुष्ट नहीं है और उत्तर कोरिया पर उसकी दबाव की नीति जारी रहेगी. जापान के रक्षा मंत्री इत्सुनोरी ओनोडेरा ने वाशिंगटन में पत्रकारों से कहा, ‘हम संतुष्ट नहीं है.’ उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया ने छोटी एवं मध्यम दूरी वाली बैलिस्टिक मिसाइलों को छोड़नेका जिक्र नहीं किया हैओनोडेरा ने कहा, ‘सामूहिक विनाश करने वाले परमाणु हथियारों एवं मिसाइलों के हथियारों के खात्मे तकवह प्योंगयांग पर दबाव बनाने की नीति जारी रखेंगे. वहीं दक्षिण कोरिया का कहना है कि उत्तर कोरिया का यह कदम ‘‘परमाणु निरस्त्रीकरण’’ की दिशा में एक ‘‘सार्थक प्रगति’’ है. दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा, ‘‘उत्तर कोरिया का निर्णय परमाणु निरस्त्रीकरण की दिशा में एक सार्थक प्रगति है, जैसा विश्व चाहता है.’’ 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

top story (position)