अटल बिहारी वाजपेयी से मिलने पीएम मोदी, अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एम्‍स पहुंचे

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 06/11/2018 - 21:41

 NewDelhi  : पूर्व प्रधानमंत्री  अटल बिहारी वाजपेयी दिल्ली स्थित प्रसिद्ध ऑल इंडिया इन्स्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्‍स) में भर्ती कराये गये हैं. आपको बता दें कि 93 वर्षीय वाजपेयी लंबे समय से बीमार चल रहे हैं.  वे डिमेंशिया से जूझ रहे हैं. डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है.  दोपहर बाद सोमवार शाम एम्‍स में उस समय हलचल मच गयी, जब अचानक  कांग्रेस अध्यक्ष  राहुल गांधी अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने  वहां पहुंच गये. इस खबर के फैलते ही भाजपा में हलचल मच गयी. आनन-फानन में भाजपा के कई बड़े नेता एक एक कर एम्स पहुंचने लग गये. खबरों के अनुसार सबसे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा एम्स पहुंचे.

 इसेे  भी  पढ़ें  :  राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में प्रणब मुखर्जी को निमंत्रण नहीं, आरएसएस के कार्यक्रम में जाने का साइड इफेक्‍ट!  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  आठ बजे एम्‍स पहुंचे

इस क्रम में देर शाम लगभग आठ बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने एम्‍स अस्पताल पहुंचेे.   पीएम ने डॉक्टरों से वाजपेयी की तबीयत के बारे में ताजा जानकारी ली. जानकारी के अनुसार पीएम मोदी लगभग 45 मिनट तक अस्पताल में मौजूद रहे.  इससे पहले आज सोमवार को ही अटल बिहारी वाजपेयी को एम्स में भर्ती कराया गया था.  पीएम मोदी के दौरे के समय एम्स में अमित शाह, अनिल बलूनी, जेपी नड्डा, विजय गोयल समेत पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे.  वाजपेयी एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया की देखरेख में हैं. उनकी हालत स्थिर है.  उन्हें अस्पताल से छुट्टी कब दी जाएगी , इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं दी गयी है.  

 इसेे  भी  पढ़ें  : दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाया तो भाजपा के लिए करेंगे प्रचार : अरविंद केजरीवाल

लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी भी वाजपेयी से भेंट करने पहुंचेंगे

भाजपा के दिग्गज नेताओं के एम्स पहुंचने के कार्यक्रम के कारण यहां सरगर्मी बढ़ गयी है.  बताया जाता है कि आज ही लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी भी वाजपेयी से भेंट करने पहुंचेंगे. भाजपा के आला नेताओं के एम्स पहुंचने के पूर्व ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एम्स पहुंचे थे.  हालांकि यह पता नहीं चल पाया कि राहुल गांधी पूर्व प्रधानमंत्री से मुलाकात कर पाये या नहीं. बता दें कि पूर्व में ही डॉक्टरों ने साफ कर दिया था कि वाजपेयी से मिलने की किसी को इजाजत नहीं है. राजनीतिक हलको में इस बात पर मजाक उड़ाया जा रहा है कि अपनी ही पार्टी के बुजुर्ग नेता की मिजाजपुर्सी में भाजपा के लोग पीछे रह गये, जबकि धुर विरोधी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष ने इस मामले में संवेदनशीलता दिखाई.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया

मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने निजी कारणों से दिया इस्तीफा

बीसीसीआई अधिकारियों को सीओए की दो टूकः अपने खर्चे पर देखें मैच

टीटीपीएस गाथा : शीर्ष अधिकारी टीटीपीएस को चढ़ा रहे हैं सूली पर, प्लांट की परवाह नहीं, सबको है बस रिटायरमेंट का इंतजार (2)

धोनी की पत्नी को आखिर किससे है खतरा, मांग डाला आर्म्स लाइसेंस

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म