पुलिस-JJMP उग्रवादियों की मुठभेड़ में मारा गया हार्डकोर उग्रवादी गुड्डू यादव, चार उग्रवादी घायल, 10 घातक हथियार बरामद

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 01/18/2018 - 19:34

Ranchi : लातेहार के सदर थाना क्षेत्र के जैर पहाड़ी पर स्पिलंटर ग्रुप के प्रतिबंधित जेजेएमपी उग्रवादियों और पुलिस के बीच हुए मुठभेड़ में हार्डकोर उग्रवादी गुड्डू यादव मारा गया है. पुलिस का दावा है कि चार और उग्रवादियों को भी गोली लगी है. आईजी अभियान आशीष बत्रा ने रांची स्थित पुलिस मुख्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि लातेहार एसपी को मिली गुप्त सूचना के आधार पर जैर पहाड़ी में छापामारी अभियान चलाया जा रहा था. इसी दौरान पप्पू लोहरा दस्ता के उग्रवादियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की जिसमें गुड्डू यादव मारा गया. करीब एक घंटे तक मुठभेड़ चली इसके बाद वहां सर्च अभियान चलाया जा रहा है.

10 घातक हथियार किये गये बरामद

मुठभेड़ के बाद सर्च अभियान के दौरान पुलिस ने एक एके 47दो इंसासएक एसएलआरदो 303 राईफलदो .315 राईफलदो सेमी ऑटोमेटिक अमेरिकन रायफल (3006) एवं 700 राउण्ड जिन्दा कारतूस सहित कई अन्य समानों को बरामद किया. पुलिस के मुताबिक मारा गया उग्रवादी गुड्डू यादव मनिका थाना के कुई गांव का रहने वाला था. मृत उग्रवादी के विरूद्ध लातेहार जिला के मनिका थाना में मामला दर्ज है. वहीं इस अभियान में शामिल पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत किया गया.

इसे भी पढ़ेंः पुराने अंदाज में नजर आये लालू, राजद नेताओं से कहाः सब ठीक बा...

नक्सलियों को खत्म करने के लिए कृतसंकल्पित है पुलिस

आईजी अभियान आशीष बत्रा ने कहा कि झारखंड पुलिस और अर्धसैनिक बलों के संयुक्त प्रयास से नक्सलियों को पूरी तरह खत्म किया जायेगा. इसके लिए झारखंड पुलिस दृढ़ संकल्पित है. कई मामलों में पुलिस को सफलता भी मिली है. इससे पूर्व में 11 जनवरी की रात हजारीबाग के पदमा थाना में पुलिस एवं टीपीसी संगठन के बीच मुठभेड़ हुआ जिसमें दो उग्रवादी खेमलाल गंझू और महेश गंझू मारे गए. वहीं 04 जनवरी को पलामू जिला के रामगढ़ थाना में जेजेएमपी संगठन के साथ पुलिस का मुठभेड़ हुआ जिसमें भारी मात्रा में कारतूस के साथ अन्य सामग्री बरामद किया गया. 05 जनवरी को गुमला जिला में पीएलएफआई दस्ता के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी. जिसमें हथियारकारतूस एवं मोटरसाइकिल बरामद किया गया जबकि चार उग्रवादी को गिरफ्तार किया गया.

इसे भी पढ़ेंः दो साल बीतने के बाद भी जमीन खोजने में नाकाम हुई अमेटी, सरकार भी उपलब्ध नहीं करा पायी जमीन

माओवादी अब खत्म होने की कगार पर

आईजी अभियान ने बताया कि माओवादी एवं अन्य उग्रवादी संगठन खात्मे की कगार पर हैं. 2017 में भी राज्य में झारखंड सरकार के आत्मसमर्पण नीति एवं पुलिस के बढ़ते दबाब के कारण दर्जनों शीर्ष नक्सलियों सहित कुल 47 उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया है. 12 नक्सली पुलिस मुठभेड़ में मारे गये एवं 02 सैक मेम्बर और 55 शीर्ष उग्रवादी सहित कुल 608 गिरफ्तारियां हुई.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

top story (position)