...तो 257 मुखिया एक साथ प्रधानमंत्री को सौंपेंगे त्यागपत्र

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 05/22/2018 - 19:37

Hazaribagh : पंचायत के अधिकार में कटौती की कोशिस के विरोध में पंचायती राज के निर्वाचित प्रतिनिधियों का रघुवर सरकार के प्रति अक्रोश बढ़ता जा रहा है. सरकार ने राज्य के सभी अनुसूचित गावों में आदिवासी विकास समिति और गैर-अनुसूचित गावों में ग्राम विकास समिति के माध्यम से पांच लाख रुपये तक की योजनाओं जैसे पोखर, कुआं, डोभा आदि के चयन और कार्यान्वयन का निर्णय लिया है. सरकार के इस निर्णय के विरोध में राज्य के मुखिया संघ की ओर से राजभवन के समक्ष धरना भी दिया जा चुका है. वहीं सरकार के द्वारा इस संबंध में लिए गये निर्णय को मुखिया संघ पेसा कानून और झारखंड पंचायती राज अधिनियम के सीधा उलंघन और इसे कमजोर करने की सजिश के रूप में देखने लगा है. हजारीबाग में मुखिया संघ ने आपातकालीन बैठक कर सरकार के निर्णय के खिलाफ आंदोलन की रणनीति बनाई है. बैठक में कई प्रस्ताव भी पास किए गये हैं.

इसे भी पढ़ें- क्रशर ने किया खेतों को बर्बाद, खदान के कारण पानी के लिए मचा त्राहिमाम     

प्रस्ताव में क्या है ?

- झारखंड सरकार दवारा पंचायाती राज अधिनियम का उल्लंघन करते हुए ग्राम विकास समिति एवं आदिवासी विकास समिति का गठन किया गया है. जिसकी मुखिया संघ ने निंदा की

- मुखिया संघ हजारीबाग की ओर से  24 मई को मुख्यमंत्री का पुतला दहन करने का प्रस्ताव पास किया.

- 25 मई को एक दिवसीय उपवास कर सरकार की नीतियों एवं शोषण का विरोध करने का निर्णय लिया गया. साथ ही प्राधनमंत्री के क्रार्यक्रम का भी विरोध करने की बात बैठक में तय की गई.

बैठक में सरकार के फैसले का विरोध

बैठक में सबसे अहम बात ये तय हुई कि अगर रधुवर सरकार इसी तरह पंचायत का अधिकार छीनना जारी रखती है तो सरकार के सभी कार्यक्रमों का मुखिया और पंचायती राज्य के प्रतिनिधियों द्वारा राज्य भर में बहिष्कार किया जायेगा. सरकार अगर ग्राम विकास समिति, आदिवासी विकास समिति का गठन एवं मनरेगा के तहत योजना के संचालन का काम करती है तो जिले के आंदोलन को और उग्र करते हुए आने वाले समय में हजारीबाग के सभी 257 मुखिया एक साथ प्रधानमंत्री को त्यागपत्र सौंपेंगे.

इसे भी पढ़ें- हजारीबाग के कोलियरियों में माफिया-अपराधी वसूल रहे 5825 रुपया प्रति ट्रक    

बैठक में ये रहे मौजूद

बैठक में विनीता देवी, अनूप कुमार, महेंद्र राम, गोपाल प्रसाद, महेश तिग्गा, मंजू मिश्रा, लक्ष्मी देवी, दशरथ यादव, राजेंद्र प्रसाद, चौधरी प्रसाद साहू, दशरथ महतो, प्रेमचंद प्रसाद, पिंकी देवी, रेणु देवी, सुनीता देवी, धीरज कुमार, राम प्रसाद कुशवाहा, संतोष प्रसाद मेहता, राम प्रसाद मेहता, पिंटू रानी, शारदा देवी एवं कई मुखिया उपस्थित थे.   

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

नोटबंदी के दौरान अमित शाह के बैंक ने देश भर के तमाम जिला सहकारी बैंक के मुकाबले सबसे ज्यादा प्रतिबंधित नोट एकत्र किए: आरटीआई जवाब

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया