Skip to content Skip to navigation

चीन को कोविंद की अरूणाचल यात्रा पर आपत्ति, कहा : सीमा विवाद को और जटिल ना बनायें

News Wing

Beijing, 20 November : चीन ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अरूणाचल प्रदेश यात्रा का कड़ा विरोध करते हुए कहा है कि भारत को ऐसे समय में सीमा विवाद को ‘‘जटिल बनाने’’ से बचना चाहिए जब द्विपक्षीय संबंध ‘‘निर्णायक क्षण’’ में है. राष्ट्रपति कोविंद ने कल अरूणाचल प्रदेश की यात्रा की थी. कोविंद की अरूणाचल प्रदेश यात्रा के बारे में पूछे जाने पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ल्यू कांग ने मीडिया से कहा, ‘‘चीनी सरकार ने कभी भी तथाकथित अरूणाचल प्रदेश को स्वीकार नहीं किया और सीमा मुद्दे पर हमारी स्थिति दृढ़ और स्पष्ट है.’’ चीन नियमित रूप से किसी भी भारतीय अधिकारी की अरूणाचल प्रदेश यात्रा का विरोध करता आया है.

यह भी पढ़ें : इंटरनेशनल कोर्ट में भारतीय उम्मीदवार की जीत की संभावना, सकते में सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य

चीन करता आया है ऐसा विरोध

भारत ने चीन की आपत्तियों को खारिज करते हुए कहा कि अरूणाचल प्रदेश देश का एक अभिन्न अंग है. भारतीय नेता राज्य की यात्रा करने के लिए उतने ही स्वतंत्र हैं जितने कि देश के अन्य किसी हिस्से की. ल्यू ने कहा, ‘‘दोनों देश एक निष्पक्ष और उचित समाधान पर पहुंचने के लिए बातचीत के जरिये इस मुद्दे का समाधान करने की प्रक्रिया में है.’’ उन्होंने कहा कि सभी पक्षों को शांति के माहौल के लिए लंबित अंतिम समाधान के लिए काम करना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘ चीन ऐसे समय में दृढ़ता के साथ भारतीय नेताओं की संबंधित क्षेत्र में गतिविधियों का विरोध जताता है जब चीन-भारत संबंध एक निर्णायक क्षण में है.’’

यह भी पढ़ें : चीन की जेलों में बास्केटबॉल खिलाड़ियों को छोड़ देना चाहिए था: ट्रंप

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Lead
Share

Add new comment

loading...