Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में 100वें पायदान पर पहुंचा भारत, पीएम ने कहाः टीम इंडिया के सुधार कदमों का नतीजा

News Wing New Delhi, 31 October: भारत ने ईज ऑफ डूइं‍ग बिजनेस मामले में लंबी छलांग लगायी है. नोटबंदी और जीएसटी के बाद अर्थव्यवस्था में आई नरमी को लेकर लगातार विपक्ष के निशाने पर रह रही मोदी सरकारके लिए राहत की एक बड़ी खबर आई है. वर्ल्ड बैंक की कारोबार सुगमता रिपोर्ट में भारत की रैंकिंग में शानदार सुधार आया है. देश अब 130वें स्थान से खिसककर 100वें पायदान पर पहुंच चुका है. गौरतलब है कि बीते साल 190 देशों की सूची में भारत 130वें पायदान पर रहा था, 2014 में भारत ईज ऑफ डू‍इंग बिजनेस के मामले में 142वें नंबर पर रहा. इस साल के आकलन में यह टॉप 10 सुधारकर्ता देशों में एक है. कारोबार सुगमता के 10 संकेतकों में से आठ में सुधारों को क्रियान्वित किया गया. यह पहला मौका है जब भारत इस मामले में 100 देशों में शामिल हुआ है.

रैंकिंग में और सुधार की होगी कोशिशः पीएम

कारोबारी माहौल की रैंकिंग में शानदार सुधार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी उत्साहित हैं. उन्होंने कहा है कि कारोबार सुगमता की रैंकिंग में ऐतिहासिक छलांग 'टीम इंडिया' के चौतरफा एवं बहु-क्षेत्रीय सुधार कदमों का नतीजा है. पीएम कहा कि पिछले तीन वर्षों में हमने कारोबार को सुगम बनाने की ओर राज्यों के बीच सकारात्मक स्पर्धा की भावना देखी है. मोदी ने कहा कि हम 'रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफार्म' के मंत्र के साथ रैंकिंग में और सुधार करने तथा अधिक आर्थिक वृद्धि हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

अब हमारा लक्ष्य टॉप 50 पोजिशन हासिल करनाः जेटली

वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विश्व बैंक की रिपोर्ट के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि अब हमारा लक्ष्‍‍‍य टॉप 50 की पोजिशन हासिल करना है. उन्होंने कहा कि कारोबार करने के लिए माहौल संबंधी विश्व बैंक की रिपोर्ट पहले भी आती थी लेकिन पूर्व की सरकारों ने कभी उसे खास तवज्जो नहीं दी. मौजूदा केंद्र सरकार ने न सिर्फ इसे तवज्जो दिया बल्कि किस तरह से इस सूची में अपनी रैंकिंग सुधारी जाए, इसको लेकर एक सोची समझी रणनीति लागू की. एक वर्ष के भीतर इस रैकिंग में 30 अंकों की छलांग इस सोची समझी रणनीति का ही उदाहरण है.

Top Story
Share

Add new comment

loading...