Skip to content Skip to navigation

सहारा के खिलाफ सेबी ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

News Wing

New Delhi, 10 October :  बाजार नियामक सेबी ने सहारा समूह पर आंबे वैली संपत्ति की नीलामी प्रक्रिया में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ अवमानना कार्रवाई करने के लिए आज उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया. भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) का कहना है कि न्यायालय के निर्देश पर पुणे स्थित आंबे वैली की नीलामी की प्र​क्रिया शुरू की गई लेकिन सहारा समूह इसमें बाधा खड़ी कर रहा है.

सेबी ने किया तत्काल सुनवाई की आग्रह

सेबी की ओर से यह मामला न्यायाधीश राजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष विचारार्थ रखा गया और तत्काल सुनवाई की आग्रह किया गया. सेबी ने कहा कि नीलामी प्र​क्रिया आज से शुरू होनी थी लेकिन सहारा समूह परियोजना में दैनिक कारोबारी गतिविधियों को रोकते हुए इसमें बाधा खड़ी कर रहा है.

कारोबारी गतिविधियां रुकने से कानून व्यवस्था का संकट

सेबी का दावा है कि कारोबारी गतिविधियां रुकने से इलाके में कानून व्यवस्था का संकट होगा और नीलामी प्र​क्रिया को आगे बढ़ाने में दिक्कत होगी.

न्यायाधीश गोगोई ने कहा, ‘हम आपको कोई तारीख नहीं दे रहे. मैं मुख्य न्यायाधीश व न्यायाधीश ए के सिकरी से सलाह मश्विरा करूंगा और उसके बाद ही कोई तारीख तय की जाएगी.’ उल्लेखनीय है कि सेबी सहारा मामले की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा व न्यायाधीश गोगोई व न्यायाधीश सिकरी वाली विशेष पीठ कर रही है.



उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने 10 अगस्त को सहारा प्रमुख सुब्रत राय की आंबे वैली की नीलामी पर रोक लगाने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया था.

Lead
Share

Add new comment

loading...