Skip to content Skip to navigation

Add new comment

बिहार में लोग छोटी बीमारी होने पर भी दिल्ली एम्स पहुंच जाते हैः अश्विनी चौबे

News Wing

Patna, 9 October: केंद्रीय स्वास्थय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने बिहार में मरीजों को लेकर एक विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि बिहार में लोग एक छोटी सी बीमारी होने पर भी दिल्ली के एम्स में इलाज करवाने पहुंच जाते है. जिसकी वजह से एम्स में मरीजों की काफि भीड़ लग जाती है. उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने एम्स के अधिकारियों से कहा है कि ऐसे लोगों का बिना इलाज किये बिहार वापस भेज दिया जाए. हार भेजने की बात भी की है. ये बाते उन्होंने रविवार को पटना में टीकाकरण के लिए मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के दौरान कही है.

बयान को लेकर कांग्रेस का तीखा तंज

मंत्री जी के इस बयान के बाद से बिहार में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गयी है. विपक्षी दलों ने उनके इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. कांग्रेस पार्टी के विरिष्ठ नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा है कि अश्विनी चौबे अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं तभी तो ऐसी बाते कही है.  कांग्रेस नेता ने कहा, उन्होंने बिहारियों का अपमान किया है. अश्विनी चौबे अपने दिये बयान को लेकर माफी मांगे नहीं तो पीएम मोदी उन्हें तुरंत बर्खास्त करें.

राजद ने किया बयान पर पलटवार

इधर, राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने पलटवार करते हुए कहा कि सत्ता के नशे में मंंत्री मदहोश हैं. लोगों का अधिकार है कि वो अपना इलाज कहीं भी और किसी से भी करा सकते है. उन्हें इलाज के लिए मना करने का हक किसी को नहीं है. अश्विनी चौबे का यह बयान संविधान के खिलाफ हैं और उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर निकाल देना चाहिए.

पूर्व में भी विवादित बयान को लेकर रह चुके हैं सुर्खियों में

यह कोई पहली बार नहीं जब मंत्री जी ने कोई विवादित बयान दिया है. इससे पहले भी वो अपने विवादित बयान को लेकर सुर्खियों में रह चुके हैं. बता दें कि अश्विनी चौबे ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ विवादास्पद बयान देते हुए उन्हें इटली की गुड़िया और जहर की पुड़िया कहा है. इस बयान के बाद कांग्रेस ने उनपर केस दर्ज कराया था.

Top Story
Share
loading...