Skip to content Skip to navigation

Add new comment

लालू ने बेनामी संपत्ति जुटाने में राबर्ट वाड्रा को पी​छे छोड़ा : सुशील मोदी

News Wing

Patna, 10 October : बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद परिवार पर एक और 'बेनामी' संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि लालू ने ऐसी संपत्ति अर्जित करने में राबर्ट वाड्रा को पीछे छोड दिया है.

लालू और उनके परिवार के अन्य सदस्यों के द्वारा 'बेनामी' संपत्ति अर्जित किए जाने के बारे में हाल के दिनों में लगातार खुलासा करते आए सुशील मोदी ने आज पत्रकारों को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि लालू प्रसाद के मुख्यमंत्रित्वकाल के दौरान 8 नवम्बर 1993 को गोपालगंज निवासी सुभाष चन्द्र चौधरी के नाम से पटना के श्रीकृष्णपुरी थाना अंतर्गत मैनपुरा मुहल्ला में 4 कटठा 11 धुर जमीन खरीदी दिखलायी गयी है. उन्होंने कहा कि इस जमीन को नगद भुगतान कर खरीदा गया था.

लालू परिवार ने पद का गलत फायदा उठाया

सुशील ने आरोप लगाया कि सुभाष चन्द्र चौधरी ने 11 लाख 32 हजार रूपये (2003 का मूल्य) की पटना की अत्यंत कीमती जमीन जिसकी आज कीमत करोडों में होगी लालू की बेटी मीसा भारती को 11 नवम्बर 2003 में दान कर दी. उन्होंने कहा कि जिस समय जमीन गिफ्ट दी गयी उस समय लालू प्रसाद की पत्नी राबडी देवी राज्य की मुख्यमंत्री थी. उन्होंने आरोप लगाया कि जमीन की खरीद चेक से नहीं बल्कि नगद से की गयी.



उन्होंने कहा कि सुभाष चन्द्र चौधरी के गिफ्ट डीड में लिखा है कि मीसा भारती की सेवा से प्रभावित होकर यह जमीन दान कर रहा हूं. सुशील ने आरोप लगाया कि इस गिफ्ट डीड पर लालू प्रसाद के विश्वासपात्र भोला यादव ने गवाह के नाते हस्ताक्षर किया है. उन्होंने कहा कि 1993 में खरीदी गयी जमीन का 10 वर्षो तक दाखिल खारिज नहीं हुआ जमीन गिफ्ट करने से कुछ माह पूर्व इस जमीन का दाखिल खारिज सुभाष चन्द्र चौधरी के नाम से कराया गया.



150 'बेनामी' संपत्तियां अर्जित करने का आरोप लगाया

सुशील ने पूछा कि आखिर सुभाष चन्द्र चौधरी को 1993 में जमीन खरीदने के लिए किसने पैसा दिया. उन्होंने यह भी पूछा कि 10 वर्षों तक सुभाष चन्द्र चौधरी के नाम से जमीन का दाखिल खारिज क्यों नहीं कराया गया. सुशील ने पूछा कि सुभाष चन्द्र चौधरी ने अपने बच्चों के नाम जमीन लिखने के बजाए मीसा भारती को क्यों गिफ्ट कर दिया. मीसा ने क्या सेवा की जिससे प्रसन्न होकर सुभाष चन्द्र चौधरी ने करोडों की जमीन दान कर दी.

राबर्ट वाड्रा को भी पीछे छोड़ दिया

उन्होंने देश भर में लालू परिवार के सदस्यों द्वारा करीब 150 'बेनामी' संपत्तियां अर्जित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी राजद प्रमुख द्वारा गलत तरीके से खरीदे भूखंड पर एक किताब लिखने की योजना है. सुशील ने कहा कि यह कहना गलत नहीं होगा कि लालू प्रसाद ने इस मामले में राबर्ट वाड्रा को भी पीछे छोड दिया.

वहीं राजद प्रवक्ता मृत्जंय तिवारी ने सुशील द्वारा लगाए गए आरोप को खारिज करते हुए आरोप लगाया कि ऐसा वे नरेंद्र मोदी सरकार को लालू जी से अगले लोकसभा चुनाव में खतरे को भांपते हुए कर रहे हैं.

Lead
Share
loading...