आजसू और भाजपा विधायकों ने जेएसएससी दारोगा नियुक्ति प्रकिया पर उठाये सवाल

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 02/19/2018 - 20:17

Ranchi : झारखंड के रघुवर सरकार के तीन विधायकों ने मुख्‍यमंत्री को अलग-अलग पत्र लिखकर झारखंड राज्‍य कर्मचारी चयन आयोग के तहत नियुक्ति के चयन प्रकिया पर सवाल उठाया है. पत्र लिखने वालों में भाजपा के बगोदर विधायक नागेंद्र महतो और बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो हैं. इनके अलावे रघुवर सरकार के सहयोगी दल आजसू के टुंडी विधायक राजकिशोर महतो ने भी सीएम को चिट्ठी लिखी है.

तीनों ही विधायकों ने मुख्‍यमंत्री रघुवर दास को अलग-अलग चिट्ठी लिखी हैलेकिन उसमें सभी ने झारखंड राज्‍य कर्मचारी चयन आयोग के नियुक्ति से जुड़े एक ही तरह के मुद्दे पर सवाल किया है.

इसे भी पढ़ें- सीएनटी-एसपीटी एक्ट की तर्ज पर भूमि अधिग्रहण बिल का विरोध करने की तैयारी में विपक्ष 

1544 रिक्‍त पदों के लिए सिर्फ 399 अभ्यर्थी हुये सफल

विधायकों ने अपने पत्र में कहा है कि झारखंड राज्‍य कर्मचारी चयन आयोग द्वारा दारोगा बहाली परीक्षा 2017 के तहत 1544 रिक्‍त पदों पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन निकाला गया था. इस नियुक्ति प्रक्रिया में अभी तक सिर्फ 399 अभ्‍यर्थी सफल हो पाये हैं. 1544 रिक्‍त पदों के मुकाबल सिर्फ 399 अभ्‍यर्थियों की सफलता पर अपनी चिंता जाहिर की है. उन्‍होंने अपने पत्र में कहा है कि झारखंड पुलिस अवर निरीक्षक सीमित प्रतियोगिता परीक्षा 2017 एक विभागीय परीक्षा है. इस परीक्षा के माध्‍यम से झारखंड पुलिस के जिलाबल के आरक्षीहवलदार एवं सअनि को ही निर्धारित अहर्तापूर्ण जैसे न्‍यूनतम सेवा अवधि 5 साल से 10 सालसामान्‍य 35 वर्ष और एसटी/एससी 40 साल के अभ्यर्थी को पुलिस अवर निरीक्षक के पद पर नियुक्‍त किया जाना है.

इसे भी पढ़ें- न्यूज़ विंग की खबर का असर : समाचार प्रकाशन के बाद छह दिन विलंब से पुलिस ने किया मामला दर्ज

फिजिकल टेस्ट में छूट देने की मांग

पत्र में विधायकों ने कहा है कि यह व्‍यवस्‍था झारखंड में पहली बार लागू की गयी हैइसलिए 10 वर्ष से अधिक सेवा अवधि पूरी कर चुके अभ्यर्थियों के लिए पहले दो परीक्षाओं में अधिकतम उम्र सीमा में छूट दी गयी है. विधायकों ने कहा है कि फिजिकल टेस्‍ट के लिए तय दौड़ 60 मिनट में 10 किलोमीटर (पुरुष के लिए)40 मिनट में 5 किलोमीटर (महिला के लिए) को कम नहीं किया गया हैजो न्‍यायसंगत नहीं है. इसके अलावे झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा झारखंड पुलिस रेडियो अवर निरीक्षक परीक्षा 2017 में सीधी भर्ती के उम्‍मीदवार को 60 मिनट में 08 किलोमीटर (पुरुष)35 मिनट में 04 किलोमीटर (महिला) की दौड़ की परीक्षा ली गयी है. इसमें उम्‍मीदवार का अधिकतम उम्र सामान्‍य 26 सालएससी/एसटी 30 साल व पिछड़ा वर्ग 28 वर्ष निर्धारित थाजबकि दोनों समान रैंक है. विधायकों ने मुख्‍यमंत्री से पत्र के जरिये कहा है कि ज्‍यादा उम्र वाले ज्‍यादा दौड़ नहीं पायेंगे. उन्‍होंने इस बात पर चिन्‍ता जाहिर की है कि यह सोच अच्‍छी है, लेकिन फिजिकल टेस्‍ट में उम्‍मीदवारों को छूट नहीं दी गयी है.

इसे भी पढ़ेंः CNT एक्ट की वजह से मिथेन ब्लॉक के लिए कुआं खोदने में होती है परेशानी, डीसी कोर्ट की सुनवाई लगती है बोझिलः ONGC

इसे भी पढ़ेंः हजारीबाग जेल में भोजन कटौती पर भड़के बंदी, टकराव की स्थिति, कटौती के पीछे बंदरबांट की साजिश तो नहीं!

मुख्यमंत्री से उम्र सीमा में छूट देने की मांग

विधायकों ने पत्र के जरिये मुख्‍यमंत्री रघुवर दास से उम्र सीमा के अनुरूप उसमें भी छूट देने का आग्रह किया है. उन्‍होंने कहा है कि झारखंड पुलिस अवर निरीक्षक सीमित प्रतियोगिता परीक्षा 2017 (विज्ञापन संख्‍या 09/2017) के लिखित परीक्षा में सफल उम्‍मीदवार को न्‍याय देते हुए विज्ञापन संख्‍या 07/2017 के अनुरूप 60 मिनट में 08 किलोमीटर (पुरुष) 35 मिनट में 04 किलोमीटर (महिला) की फिर से फिजिकल टेस्‍ट लेने का निर्देश दें.  

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप