अमित शाह का टारगेट, भाजपा 50 साल तक सत्ता में बने रहे, कार्यकर्ताओं को दिये टास्क

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 18:01

NewDelhi :  दिल्ली के राजनीतिक गलियारों में इन दिनों भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की चर्चा है. बता दें कि श्री शाह अपनी रणनीतिक कारीगरी के लिए पहचाने जाने हैं. कर्नाटक विधानसभा चुनाव में अमित शाह अपनी कुशल रणनीतिक समझ का बेहतरीन नमूना पेश कर कांग्रेस को पछाड़ते हुए नंबर गेम में आगे निकल गये. भाजपा कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. जानकार मानते हैं कि कर्नाटक चुनाव के बाद अब अमित शाह साल 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट गये हैं. अहम बात है कि अमित शाह ने खुलासा किया है कि उनकी योजना सिर्फ 2019 या 2024 को लोकसभा चुनाव जीतने की ही नहीं है, बल्कि अगले 50 सालों तक सत्ता में बने रहने की है.

इसे भी पढ़ेंःजेठमलानी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले को 'संवैधानिक शक्ति का घोर दुरुपयोग' बताया

सवाल यह नहीं है कि 2019 या 2024 तक चुनाव जीतना है

गुरुवार को भाजपा के मोर्चों की संयुक्त राष्ट्रीय कार्यसमिति बैठक में अमित शाह ने कहा कि सवाल यह नहीं है कि 2019 या 2024 तक चुनाव जीतना है. कहा कि हमें देश में लंबे समय तक जनता के बीच जगह बनानी है,  हमें 50 साल तक सत्ता में रहने की तैयारी से काम करना है.  इसका मतलब हमें अपना संगठन मजबूत बनाना होगा. अमित शाह ने कहा कि हमें घर-घर जाकर पार्टी की योजनाएं लोगों को बतानी हैं, उनसे पार्टी के नंबर पर मिस्ड कॉल करवानी है, ताकि पता चल सके कि कार्यकर्ता कितने घर गये हैं.  हो सके तो कार्यकर्ता व्हाट्सएप लोकेशन भी केन्द्रीय पदाधिकारियों से शेयर करें.  हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को नमो एप से जोड़ना है.  इसके साथ-साथ लोगों को बूथ तक भी पहुंचाना है.

इसे भी पढ़ेंः कर्नाटक में सरकार बनाने पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुख्य बिंदु

आज के समय में भारतीय जनता पार्टी का काडर बेहद मजबूत

 उल्लेखनीय है कि आज के समय में भारतीय जनता पार्टी का काडर बेहद मजबूत है और हाल के कई चुनावों से यह और भी मजबूत हुआ है. बूथ मैनेजमेंट के फार्मूले से भाजपा ने कई चुनावों में जीत हासिल की है और अब पार्टी की कोशिश है कि संगठन को और भी ज्यादा मजबूत बनाया जाये. यही वजह है कि आगामी लोकसभा चुनावों की तैयारी पार्टी ने अभी से ही शुरु कर दी है और पार्टी अध्यक्ष लगातार संगठन पदाधिकारियों के साथ बैठकें कर रहे हैं.  वहीं कर्नाटक में भी राजनैतिक उठा-पटक शुरु हो गयी है.  चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी भाजपा को राज्यपाल द्वारा सरकार बनाने का न्यौता दिया गया था, जिसके बाद आज सुबह बीएस येदियुरेप्पा ने सीएम पद की शपथ ग्रहण की.अब येदियुरेप्पा को 15 दिन का समय दिया गया है, जिसमें उन्हें बहुमत साबित करना होगा.   

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलोभी कर सकते हैं.

na