डायन बताकर खुलेआम महिलाओं पर हो रहे अत्याचार, कहीं वृद्धा को उठा ले गये, तो कहीं कर दी हत्या

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 01/03/2018 - 12:26

Dhanbad: डायन-बिसाही के नाम पर आज भी महिलाओं के साथ होनेवाला अत्याचार लगातार जारी है. इस अत्याचार का खासतौर पर ऐसी महिलाएं शिकार होती हैं, जो या तो विधवा हैं अथवा वृद्ध. लोग यूं ही किसी भी घटना को जादू टोना और टोटके  का नाम दे देते हैं और ऐसी किसी भी महिला के साथ जोड़ देते हैं. ऐसा करने के पीछे का एक कारण झाड़ फूंक करनेवाले पाखंडियों द्वारा किये जानेवाले ऐसे ईशारे भी होते हैं, जिनकी बातों में आ कर आंख पर पटटी बांध लोग विश्वास करने लगते हैं.

जान बचाने के लिए इस परिवार को जंगल में छुपना पड़ा

ऐसा ही एक मामला आया है सरायकेला में जहां कुचाई थाना के गोमियाडीह पंचायत के सेकरेडीह गांव की एक वृद्ध महिला को लोग डायन बताकर उठा कर ले गये. वृद्धा का परिवार इस वाकये से इतना डर गया कि परिवार के सारे लोग घर छोड़ कर ही भाग खड़े हुए. अपनी जान बचाने के लिए इस परिवार को जंगल में छुपना पड़ा. घटना 27 दिसंबर की है. घटना के बाद हिम्मत जुटा कर वृद्धा के बेटे ने पुलिस अधीक्षक को लिखित आवेदन दिया. वृद्धा के बेटे बुधराम मुंडा ने आवेदन में बताया है कि शाम करीब सात बजे उसकी मां अयोध्या मुंडा को गांव के ही करीब दस से पंद्रह लोग जबरदस्ती डायन कहते हुए उठा कर ले गये.

इसे भी पढ़ें: भारत में बढ़ रही सिजेरियन डिलीवरी की प्रवृति, सांसद महेश पोद्दार ने सरकार के द्वारा उठाये गये कदमों का मांगा व्यौरा

महिला का अबतक पता नहीं, मारे जाने के डर से घर वापस नहीं आ रहा परिवार

बुधराम मुंडा ने बताया धनकटनी का समय चल रहा है, ऐसे में घर पर परिवार के लोगों के अलावा कई रिश्तेदार भी मौजूद थे लेकिन इतनी बड़ी संख्या में अचानक आ धमके हमलावरों को देख कर सभी भाग कर इधर-उधर छुप गये. हमलावरों के डर से बुधराम और उसका पूरा परिवार अपने घर नहीं जा पा रहे हैं. वहीं अबतक उसकी मां का भी कुछ पता नहीं चला है. बुधराम के अनुसार इससे पहले भी उसके चाचा की हत्या कर अपराधी सारी जमीन हड़प चुके हैं. बुधराम को डर है कि वह अपने परिवार के साथ घर वापस लौटता है, तो उसे और उसके परिवार के लोगों की हत्या की जा सकती है.

सरायकेला एसपी ने कहा मामले की जानकारी नहीं

दैनिक अखबार प्रभात खबर में छपी रिपोर्ट के अनुसार, मामले में सरायकेला एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने कहा कि उन्हें ऐसे किसी भी मामले की जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा आपसी विवाद का एक मामला आया है लेकिन डायन के नाम पर वृद्धा को उठाने जैसा मामला लेकर कोई नहीं आया है.

इसे भी पढ़ें: केंद्र द्वारा खून के लिए जारी निर्देश नहीं हुआ सर्कुलेट, जारी होने के बाद अस्पताल नहीं कर सकता मरीजों के परिजनों को परेशान

एक अन्य घटना में डायन बता कर महिला को मार डाला, आंखें भी निकाल लीं

ऐसी ही एक घटना में दो जनवरी को जोड़ा थाना के दामपुर गांव में 45 वर्षीय महिला जोस्मती मुंडा को डायन बताकर उसके पड़ोसी जगन्नाथ मुंडा ने ही मार डाला. हालांकि जगन्नाथ मुंडा को पुलिस ने महिला की हत्या के बाद गिरफतार कर लिया है. महिला को डायन बताने के पीछे कारण यह बताया गया कि जगन्नाथ मुंडा की बेटी बीमार हो गयी थी. जिसे तांत्रिक को दिखाया गया. तांत्रिक ने उसके बीमार होने की वजह पड़ोसी महिला जोस्मती मुंडा का डायन होना बताया. जिसके बाद जगन्नाथ मुंडा ने अपना आपा खो दिया और डायन होने के शक में महिला की हत्या कर दी. महिला पर लोहे के रॉड से वार किया गया और सारी हदें पार करते हुए उसकी आंखें भी निकाल ली गयी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Special Category
City List of Jharkhand
loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)