बोकारो : कसमार पुलिस के हत्थे चढ़ा नक्सली मोहन महतो, कई मामलों में एक दशक से था वांछित

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 02/06/2018 - 10:07

Bokaro : कसमार थाना पुलिस ने एक दशक से फरार चल रहे मुरहुलसुदी निवासी मोस्ट वांटेड नक्सली मोहन महतो उर्फ फिडिंग को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार नक्सली मोहन महतो को पुलिस ने जेल भेज दिया है. गौरतलब है कि पिछले कई वर्षो से पुलिस को उसकी तलाश थी. वहीं वह कसमार थाना क्षेत्र में कई नक्सली कांडो का आरोपी भी है.

इसे भी पढ़ें- लोहरदगा में नक्सलियों की पुलिस को नुकसना पहुंचाने की योजना नाकाम, 238 किलो सेफ्टी फ्यूज बरामद

गुप्त सूचाना के आधार पर हुई गिरफ्तारी

मोहन महतो कसमार थाना क्षेत्र अंतर्गत मुरहुलसूदी पंचायत के मुरहूल गांव का निवासी है. वहीं पुलिस के अनुसार कसमार व सीमावर्ती बंगाल के इलाके में वह बीते एक दशक से सक्रिय रहा है. इधर पुलिस ने लगातार कोशिशों के बाद पुरूलिया जिला के बरलंगा से उसकी गिरफ्तारी की है. बरलंगा चौक में उसके होने की गुप्त सूचना मिलने के बाद कसमार थाना प्रभारी मनोज कुमार महतो, एएसआई केएन पाठक, बरलंगा थाना प्रभारी संतोष कुमार गुप्ता ने पुलिस बल के साथ घेराबंदी की और उसे दबोचने में कामयाब रहे.

इसे भी पढ़ें- बकोरिया कांडः प्राथमिकी में 11 बजे हुई मुठभेड़, तब के लातेहार एसपी अजय लिंडा ने अपनी गवाही में कहा रात 2.30 बजे तक एसपी पलामू को नहीं था पता

इन मामलों में वांछित है गिरफ्तार नक्सली

  • मोहन महतो कसमार थाना कांड संख्या 04/2006 के तहत खैराचातर निवासी जमींदार सुधीरचंद्र राय के घर लूटपाट.
  • कसमार थाना कांड संख्या 07/2006 में हिसीम पंचायत के डुमरकुदर में पुलिस के साथ मुठभेड़.
  • कसमार थना कांड संख्या 02/2007 में सेवाती घाटी में सड़क निर्माण कार्य में लेवी वसूलने.
  • कसमार थाना कांड संख्या 16/10 में मुरहुलसूदी पंचायत के चौडा में एक युवक की हत्या.
  • कसमार थाना कांड संख्या 45/12 में सेवाती घाटी झरना के पास कसमार थाना क्षेत्र के बरईकला निवासी अयूब अंसारी से 50 हजार की लूट समेत अन्य कांडों में आरोपी है.

वहीं कसमार थानेदार मनोज कुमार महतो ने बताया कि गिरफ्तार मोहन महतो ने इन कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.