बोकारो : गोमिया के दो किताब दुकान सील, पिट्स मॉडर्न स्कूल के प्राचार्य के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठे थे पुस्तक विक्रेता

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 04/05/2018 - 19:58

Gomia : पिट्स मॉडर्न स्कूल गोमिया प्रबंधन द्वारा किताब बिक्री की अनुमति प्रदान करने के पश्चात एक षड्यंत्र के तहत गलत तरीके से दूसरे व्यक्ति को किताब बिक्री की अनुमति प्रदान किए जाने से क्षुब्ध होकर गोमिया के पुस्तक विक्रेता मनोज साहू अपने परिवार के साथ पिट्स मॉडर्न स्कूल गोमिया के मुख्य द्वार के समक्ष आमरण अनशन पर गुरुवार को बैठ गए. पुस्तक विक्रेता श्री साहू ने स्कूल प्रबंधन पर आरोप लगाया कि वह पिछले 10 वर्षों से पिट्स मॉडर्न स्कूल के छात्र-छात्राओं के लिए पुस्तक बिक्री का कार्य करते आ रहे हैं. 2018 -2019 में केजी से आठवीं कक्षा तक के छात्र-छात्राओं के लिए मौखिक रूप से पुस्तक उपलब्ध कराने को कहा गया. स्कूल प्रबंधन के निर्देश पर सभी भाषाओं का पुस्तक उपलब्ध कराया गया. लेकिन स्कूल के प्राचार्य मनोज कुमार उपाध्याय ने पुस्तक बेचने के एवज में स्कूल फंड में डोनेशन जमा करने की मांग की. जिसे मैं देने में असमर्थ था. परिणाम स्वरूप पुस्तक का सिलेबस लिस्ट बदल कर दूसरे व्यक्ति को पुस्तक बेचने की अनुमति दे दी. पुस्तक विक्रेता पिट्स मॉडर्न स्कूल के प्राचार्य के इस रवैया से क्षुब्ध होकर गुरुवार को स्कूल के मुख्य द्वार के समक्ष आमरण अनशन पर बैठ गए.

इसे भी देखें- सीएम रघुवर दास  को सोशल साइट पर मिल रहे ऐसे कॉमेंट,  “बेरोजगार हूं साहब, मुझे नौकरी से फर्क पड़ता है, कांग्रेस या बीजेपी से नहीं”

स्कूल के प्राचार्य ने आरोप को बेबुनियाद बताया

वहीं स्कूल के प्राचार्य मनोज कुमार उपाध्याय से पूछे जाने पर पुस्तक विक्रेता मनोज शाह के आरोप को सरासर बेबुनियाद और झूठा तथा तथ्यहीन बताया और कहा कि स्कूल के बच्चों एवं उनके अभिभावकों को पुस्तक खरीदने के लिए कोई बाध्यता नहीं है. वे जहां से चाहे पुस्तक खरीद सकते हैं. कोई बाध्यता नहीं है. उन्होंने कहा कि स्कूल का रिजल्ट निकलने के पूर्व ही पुस्तक की लिस्ट वेबसाइट पर डाल दी गयी थी. ऐसी स्थिति में स्कूल प्रबंधन किसी खास व्यक्ति के बेनिफिट के लिए काम नहीं करेगा. इस स्कूल के 25 सौ  बच्चों के भविष्य का सवाल है.

इसे भी देखें-  बिना अनुमति प्रचार वाहन के इस्‍तेमाल पर बीजेपी प्रत्‍याशी आशा लकड़ा को नोटिस

आमरण अनशन की सूचना पर पहुंचे बीडीओ ने बातचीत के बाद अनशन समाप्त कराया

उक्त पुस्तक विक्रेता के आमरण अनशन की सूचना मिलने पर गोमिया के बीडीओ सुधीर प्रकाश, प्रखंड के उपप्रमुख मीना देवी एवं प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष रहमतून निशा यहां पहुंची और  स्कूल के प्राचार्य से  बातचीत करने के पश्चात पुस्तक विक्रेता का आमरण अनशन तुड़वाया. साथ ही  यह निर्णय हुआ कि दोनों पुस्तक विक्रेताओं के यहां पिट्स मॉडर्न स्कूल के कक्षा केजी  से लेकर कक्षा आठवीं तक पुस्तकों को निकालकर एवं दुकान में रखे पुस्तकों को  अलग-अलग रखकर सील कर दिया. जो अगले आदेश तक 12 अप्रैल तक यह प्रभावी रहेगा. बताया गया कि जब तक गोमिया स्कूल सोसाइटी के डिप्टी चेयरमैन बीके दुबे गोमिया नहीं पहुंचते हैं. तब तक मामला जस का तस रहेगा. फिलहाल प्रशासनिक पहल पर  पुस्तक विक्रेता  मनोज शाह का  आमरण अनशन समाप्त करा दिया गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...