जामताड़ा में सीएम रघुवर दास और हेमंत सोरेन का पुतला फूंका

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 02/10/2018 - 19:45

Jamtara : कुरमियों को आदिवासी का दर्जा दिलाने के लिए विधायकों और सांसदो द्वारा की गयी अनुशंसा के विरोध में राजधानी सहित राज्य के कई हिस्सों में आक्रोश नजर आने लगा. विरोध करने के क्रम में जामाताड़ा में रैली भी निकाली गयी. इस रैली सुभाष चौक, पुराना कोर्ट परिसर होते हुए इंदिरा चौक में नुक्कड़ सभा का रूप ले लिया. वहां रघुवर दास और हेमन्त सोरेन के साथ ही सांसद और विधायकों का पुतला फूंका गया.

इसे भी पढ़ें- कुड़मी को आदिवासी का दर्जा दिलाने की अनुशंसा करने वाले सांसद व विधायकाें का पुतला फूंका

अनुशंसा करने वाले 42 विधायक व 2 सांसदों ने की आदिवासी समाज से गद्दारी

कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे जयस के जामताड़ा प्रभारी श्यामलाल ने कहा कि कुरमयों को अनुसूचित जनजाति के लिए अनुशंसा करने वाले 42 विधायक और 2 सांसदों आदिवासी समाज से गद्दारी की है. इस काम में सभी राजनीतिक पार्टियों के सांसद और विधायक शामिल हैं. नुक्कड़ सभा में विधायकों को चेतावनी दी गयी है. कहा गया कि आदिवासियों के अधिकार में सेंधमारी करने का प्रयास हो रहा है. आदिवासी समाज के विरुद्ध सभी राजनीतिक दल षड्यंत्र कर रहे हैं, ताकि आदिवासियों का अस्तित्व खत्म हो जाए. इसे किसी भी सूरत में सफल होने नहीं दिया जायेगा. आदिवासी समाज इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा. पूतला दहन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रघुवर दास, प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन सहित झारखंड के 42 विधायकों का पुतला दहन किया गया. इसमें 10 से अधिक संगठन शामिल हुये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...