ONGC पोत विस्फोट मामले में केंद्र ने CSL से मांगी रिपोर्ट

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 02/14/2018 - 16:32

Kochi : केन्द्र ने मरम्मत के दौरान ओएनजीसी पोत में आग लगने और विस्फोट होने के संबंध में बुधवार को कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड (सीएसएल) से एक रिपोर्ट मांगी है. इस घटना में पांच लोगों की मौत हो गयी थी. केन्द्रीय जहाजरानी राज्य मंत्री पोन राधाकृष्णन ने बुधवार सुबह शिपयार्ड का दौरा किया और ‘‘सागरभूषण’’ पोत पर स्थिति का जायजा लिया.

इसे भी पढ़ें- 10 साल से फरार इंडियन मुजाहिदीन का संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

हादसे की विस्तृत रिपोर्ट सौंपने का निर्देश

सीएसएल ने यहां एक बयान में कहा कि मंत्री ने सीएसएल को एक विस्तृत जांच करने, हादसे के मूल कारण का पता लगाने और जहाजरानी मंत्रालय को विस्तृत रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिये. राधाकृष्णन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि एक विस्फोट हुआ था लेकिन पोत के अंदर आग के कोई निशान नहीं है. उन्होंने कहा कि सीएसएल ने इस घटना को लेकर एक उच्च स्तरीय आंतरिक जांच शुरू कर दी है. हादसे में कुछ लोग घायल हुए थे जिन्हें यहां एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मंत्री ने अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल जानने के बाद कहा कि पुलिस सभी कदम उठा रही है और केवल जांच के बाद ही हम विस्फोट के कारण का पता लगा सकते हैं.

इसे भी पढ़ें- उपभोक्ता अदालत की मदद से, हादसे में पति की मौत के बाद महिला को मिला 7.87 लाख का मुआवजा

सभी पहलुओं से की जायेगी घटना की जांच

सीएसएल ने एक बयान में कहा था कि इस घटना में पांच लोगों की मौत हुई और सात अन्य घायल हुए है. मंत्री ने घटना में मारे गये लोगों के परिवारों तक पहुंचने और मृतकों के परिजनों के लिए अनुग्रह राशि की घोषणा करने के लिए सीएसएल प्रबंधन के प्रयासों की प्रशंसा की. यूनियनों और एसोसिएशनों से मुलाकात के दौरान राधाकृष्ण और सीएसएल के प्रबंध निदेशक मधु एस नैयर ने सभी प्रभावित परिवारों को पर्याप्त मदद उपलब्ध कराने का वादा किया. वाणिज्यिक नौवहन विभाग के प्रधान अधिकारी (आईसी) अजीतकुमार सुकुमार ने कहा कि इस घटना की जांच सभी पहलुओं से की जायेगी.

इसे भी पढ़ें- फेक न्यूज को लेकर भारतीय मीडिया पर भड़का UAE, मिली चेतावनी

घटना के बाद नितिन गडकरी का ट्वीट

केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग, जहाजरानी एवं जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने विस्फोट में लोगों के मारे जाने पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने मंगलवार को ट्वीट किया था कि कोचीन शिपयार्ड में विस्फोट की घटना परेशान करने वाली है. मेरी संवेदनाएं शोकसंतप्त परिवारों के साथ है. मैंने कोचीन शिपयार्ड के एमडी से बात की है और उनसे पीड़ितों को सभी आवश्यक मदद उपलब्ध कराने के लिए कहा है. सीएसएल ने कहा था कि यह पोत मरम्मत के लिए सात दिसम्बर, 2017 को कोचीन शिपयार्ड में पहुंचा था. इसकी मरम्मत का काम सात अप्रैल, 2018 तक पूरा होना था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)