"चामुंडी का मंडन"

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 05/22/2018 - 09:48

Sunil singh

झारखंड राज्य क्रिकेट संघ में क्रिकेट से अलग जिन दूसरे खेलों का भव्य इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार हुआ और उसी भव्यता से उद्घाटन समारोह आयोजित हुआ, उसके पर्दे के पीछे के हीरों हैं  वी चामुण्डेश्वर नाथ उर्फ चामुंडी. चामुंडी हैदराबाद के सोशल सर्किल का जाना-पहचाना नाम हैं. इन्होंने लगभग 44 प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच बल्लेबाज के रूप में खेले हैं. वर्ष 1991-92 में क्रिकेट के खेल से सन्यास ले लिया. क्रिकेट प्रशासक के रुप में वर्ष 2009 विश्व कप टी-20 टूर्नामेंट में टीम इंडिया के मैनेजर थे. आन्ध्र प्रदेश क्रिकेट संघ के सचिव के पद पर भी शोभायमान रहे. वर्तमान में हैदराबाद बैडमिंटन एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं, जो भारत में इस खेल को आगे लाने में सहयोगी रहा है. इनके गहरे ताल्लुकात कार्पोरेट हाउसेज से भी रहे हैं और देश के दो धुरंधर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और मोहम्मद अजहरुद्दीन से गहरे रिश्ते रहे हैं. जेएससीए के लाॅन टेनिस कोर्ट के उद्घाटन के अवसर पर सानिया मिर्जा और शोएब मलिक को सेलेब्रिटी के रूप में लाने का काम इन्होने ही किया था. 20 मई 2018 को जेएससीए के रैकेट्स के उद्घाटन समारोह में पद्म श्री पीबी सिंधु और पद्म श्री पुलेला गोपीचंद को साथ लेकर चामुंडी ही पधारे थे. पुलेला गोपीचंद तेलंगाना बैडमिंटन एसोसिएशन के सचिव भी हैं.

इसे भी पढ़ेंःचेन्नई और हैदराबाद फाइनल में जगह बनाने के लिये भिड़ेंगे

क्रिकेट खेल से अलग चामुंडी ने अन्य खेलों के उभरते खिलाड़ी को समय-समय पर सम्मानित करने का काम किया है. मसलन रियो ओलम्पिक में सिल्वर मेडल प्राप्त करने वाली पीवी सिंधु, कोच पुलेला गोपीचंद, साक्षी मलिक और दीपिका कर्मकार को 1.25 करोड़ के चार बीएमडबलू कार सचिन तेंदुलकर के हाथों दिलवाने का काम किया. वर्ष 2001 में All England title जीतने पर पुलेला गोपीचंद को Hundai accent दिया. वर्ष 2003 में Wimbledon doubles girls खिताब जीतने पर सानिया मिर्जा को Fiat Pallion, वर्ष 2012 में सानिया नेहवाल बैडमिंटन खिलाड़ी को लन्दन ओलम्पिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने पर BMW car भेंट किया. अभी तक कुल 17 Cars विभिन्न खेलों के खिलाड़ी को इन्होने प्रदान किया है. भारतीय महिला क्रिकेट टीम की  कप्तान बनने पर मिताली राज को Chevrolet car दिया.

वर्ष 2009 में आन्ध्र प्रदेश क्रिकेट संघ के सचिव पद से हटाए गए थे. इन पर संघ के कोष की अनियमितता का आरोप लगा था. आन्ध्र प्रदेश की महिला खिलाड़ियों का एक ग्रूप ने Sexual Harrasment में केस दर्ज किया है. ये केस अब खत्म हो चुके हैं. इन्होंने विरोधी गुट पर यह सब करने का आरोप लगाया था. 
इतनी बड़ी सख्सियत हमारे राज्य झारखंड में दो बार प्रदापण किया लेकिन किस कारण से ऐसे खेल प्रेमी प्रशासक को किनारे रखा गया. समझ से परे है. दोनों भव्य कार्यक्रम जिसमें जेएससीए ने करोड़ों रुपए खर्च किए होंगे. लेकिन चामुंडी को नेपथ्य में रखा गया. झारखंड की पुरानी परम्परा रही है अतिथि देवो भव: लेकिन जेएससीए के मनोनीत पदाधिकारियों ने एक व्यक्ति की गणेश परिक्रमा करने में बड़ी चूक कर दी. माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश से जिन्हे पद छोड़ना पड़ा है, उन्हीं की महिमा मंडन में सभी लोग लगे रहे. ऐसा इसलिए भी की उन्ही के रहमो करम पर आज सभी मनोनीत पदाधिकारी का वजूद  है. झारखंड बैडमिंटन एसोसिएशन के  अध्यक्ष/सचिव भी मंच पर आमंत्रित होते तो खेल भावना का परिचायक होता. राज्य क्रिकेट संघ के खिलाड़ी को दो वर्ष से मैच फीस नहीं दिया जा रहा है. लेकिन अन्य आयोजन में भी मुट्ठी भींचकर खर्च करने की जरूरत है. आप अपने आगे अतिथि को सम्मान न दें यह खेल धर्म भी नहीं है. चामुंडी का मंडन भी होना चाहिए था.

लेखक झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारी थे और ये उनके निजी विचार हैं.

ok
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

नोटबंदी के दौरान अमित शाह के बैंक ने देश भर के तमाम जिला सहकारी बैंक के मुकाबले सबसे ज्यादा प्रतिबंधित नोट एकत्र किए: आरटीआई जवाब

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया