Chatra Horror: उसके साथ हुई गैंग रेप की सूचना दी गयी थी इटखोरी थाना प्रभारी के नंबर पर, पुलिस ने कहा समझा-बुझा दीजिये

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 05/05/2018 - 15:52

Ranchi: चतरा के इटखोरी थाना क्षेत्र के केंदुआ गांव में नाबालिग के साथ पहले दुष्कर्म और फिर घर में घुस कर जिंदा जला देने की घटना किसी की भी रुह कंपा दे. जला कर मार देने की घटना की खबर मीडिया में आने के बाद पुलिस ने 18 अभियुक्तों में से 14 को गिरफ्तार कर लिया है. पर, सवाल मुखिया के बयान ने इटखोरी पुलिस को कटघरे में खड़ा कर दिया है. मुखिया ने अॉन कैमरा कहा है कि दुष्कर्म की घटना के बाद इसकी सूचना इटखोरी थाना प्रभारी के मोबाइल पर फोन करके दी गयी थी. तब उधर से कहा गया कि वह चतरा जा रहे हैं. समझा-बुझा दो. हम चतरा से लौटेंगे, तब जाएंगे. 

पुलिस समय पर कार्रवाई करती तो बच सकती थी बिटिया की जान

सवाल यह उठता है कि क्या दुष्कर्म की घटना को हमारी पुलिस इस तरह हल्के में लेती है. क्या थाना प्रभारी अशोक चौबे या जिस किसी ने भी फोन रिसीव किया था, उसने यह जरुरी नहीं समझा कि पुलिस के जवानों को गांव भेजा जाये. पुलिस नहीं तो कम से चौकीदार को ही गांव में भेज करके घटना की जानकारी जुटा ली जाये. अगर थाना प्रभारी के मोबाइल नंबर से बात करने वाले पुलिस अफसर या कर्मी ने इनमें से किसी भी तरह की कार्रवाई की होती, तो शायद नाबालिग लड़की की मौत इस तरह जिंदा जल कर नहीं हुई होती. आश्चर्य की बात है, जो बाते मुखिया अॉन कैमरा कह रही हैं, जो बात गांव में हर किसी को पता है, वही बात चतरा पुलिस के सीनियर अफसर या जोन के प्रभारी आइजी शंभू ठाकुर को नहीं पता है. जब आइजी से सवाल किया गया, तब उन्होंने जवाब दिया कि उन्हें इस तथ्य की जानकारी नहीं है.

इसे भी पढ़ें- चतरा : रेप के बाद नाबालिग की अस्मत की कीमत लगाने वाली मुखिया समेत 14 गिरफ्तार, छावनी में तब्दील हुआ गांव   

इसे भी पढ़ें- हद से गुजरी हैवानियत, पहले नाबालिग बच्ची की अस्मत लूटी, बाद में जिंदा जलाया 

पुलिस की उदासीनता से बढ़ा दबंगों का हौसला 

मुखिया ने यह भी आरोप लगाया है कि इस मामले में ग्राम पंचायत करने से पहले स्थानीय पुलिस को जानकारी दी गयी थी और स्थानीय पुलिस के कहने पर ही पंचायत बैठी थी. साथ ही पंचायत ने फैसला सुनाया था. ग्रामीणों के मुताबिक पंचायत के वक्त नाबालिग लड़की को भी बैठाया गया था. लेकिन जब आरोपी पक्ष के दबंग लोग लड़की के बारे में उल्टा-पुल्टा बोलने लगे थे, तब वह घर में चली गयी थी. जिसके बाद दबंगों ने घर में घुस कर सैंकड़ोंं लोगोंं के सामने पहले उसे मारा-पीटा और फिर जिंदा जला दिया. 

आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा : आईजी

बहरहाल, पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर चतरा पहुंचे आईजी शंभू ठाकुर ने कहा है कि मुखिया तिलेश्वरी देवी व पंचायत समिति सदस्य रंजय रजक समेत घटना में संलिप्त 14 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है. मुख्य अभियुक्त समेत फरार अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी को लेकर सघन छापामारी अभियान चलाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जघन्य व हृदय विदारक घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.  जल्द ही चार  फरार अभियुक्तों को भी पुलिस गिरफ्तार कर लेगी. उन्होंने यह भी कहा है कि पीड़ित परिवार को डरने की आवश्यकता नहीं है.  उनकी सुरक्षा में गांव में पुलिस पदाधिकारियों व जवानों की तैनाती की गई है. मुखिया और पंचायत समिति पर कानून विरोधी फरमान सुनाने व साक्ष्य छिपाने का आरोप लगा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.