सरकार नहीं दे रही सीएस के खिलाफ ट्विट मामले में स्पेशल ब्रांच की जांच की कॉपीः सरयू राय

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 02/17/2018 - 19:11

Ranchi: सूबे के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने एक बार फिर सीएस राजबाला वर्मा को लेकर मोर्चा खोल दिया है. 17 फरवरी को उन्होंने अपने सरकारी आवास रांची में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि आखिर कैसे स्पेशल ब्रांच सीएस से जुड़े मामलों की जांच कर सकता है. अगर जांच हुई भी है तो क्यों सरकार उन्हें जांच की कॉपी उपलब्ध नहीं कर रही है. सरयू राय ने कहा कि उन्होंने जांच से जुड़ी रिपोर्ट की मांग सरकार से की थी. एक हफ्ता होने को है, लेकिन सरकार की तरफ से इस मामले में कोई रिस्पॉन्स नहीं है.    

 

इसे भी पढ़ें - सीएस राजबाला वर्मा मामले में जल्द निर्णय ले सरकार वरना होली के बाद मैं सुनाउंगा अपना फैसला : सरयू राय

इसे भी पढ़ेंः रघुवर दास सीएस राजबाला वर्मा पर एहसान नहीं कर रहे, बल्कि एहसान का बदला चुका रहे हैं : विपक्ष

 

स्पेशल ब्रांच के पास कोई न्यायिक अधिकार नहीं
विधानसभा के बजट सत्र में सीएस राजबाला वर्मा को लेकर खूब हो हंगामा हुआ था. मंत्री सरयू राय ने भी सीएम को एक पत्र लिख कर मामले को गंभीरता से लेने को कहा था. इस मामले में सरकार अपने आप को घिरता देख आनन-फानन में स्पेशल ब्रांच से जांच के आदेश दे दिए थे. जिसपर सरयू राय अब सवाल खड़े कर रहे हैं. श्री राय ने कहा कि सीएस के खिलाफ जांच स्पेशल ब्रांच नहीं कर सकता. स्पेशल ब्रांच के अधिकार क्षेत्र में सीएस का पद नहीं आता है. वहीं श्री राय ने कहा कि स्पेशल ब्रांच के पास कोई न्यायिक पावर भी नहीं है. जिसके आधार पर वो सीएस के खिलाफ जांच कर सके. स्पेशल ब्रांच सरकार को सूचनाएं देने के लिए ना कि जांच करने के लिए. जांच करने के लिए दूसरी संस्थाएं हैं, लेकिन उनसे जांच नहीं करायी गयी.  ऐसे में सवाल उठता है कि सरकार ने किसी और एजेंसी को सीएस मामले की जांच क्यों नहीं सौंपी. श्री राय ने कहा कि स्पेशल ब्रांच का काम सरकार के खिलाफ साजिश और राजनीतिक गतिविधियों के बारे जानकारी इकट्ठा करने का काम होता है.   

इसे भी पढ़ेंः 26 दिसंबर को राजबाला वर्मा पर कार्रवाई के लिए सरयू राय ने लिखा था सीएम को पत्र, नहीं हुई कोई कार्रवाई

इसे भी पढ़ेंः अंसुवन की कीमत भला कैसे भूलें लालू, सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो कह रहे राजबाला ईमानदार

बैंकर ने की थी महिला सीएस की बात
सरयू राय ने कहा कि इंडसइंड बैंक के अधिकारी ने अपने ट्वीट में महिला सीएस की चर्चा की थी. इसलिए पहले यह देखना होगा कि किस महिला सीएस का मामला है. साथ ही उनके बेटे का व्यापार है, इसको भी स्पष्ट करना होगा. उन्होंने कहा कि इस बैंक का सीडी रेसियो अचानक काफी बढ़ गया है, इसे भी देखना होगा. मंत्री ने कहा कि यह भी जांच का विषय होगा की अमेरिका में हुए रोड शो के दौरान इस बैंक के प्रमोटर या कोई अधिकारी सरकार के लोगों से मिला या नहीं. 

इसे भी पढ़ेंः चारा घोटाला मामलाः सीएस राजबाला की बढ़ी मुश्किलें, सरकार ने जारी किया नोटिस, 15 दिन में मांगा जवाब

सरकार ने किया शो-कॉज जबकि करनी थी कार्रवाई
सरयू ने कहा कि हैरत की बात यह है कि कैसे सरकार ने सीएस को सिर्फ शो-कॉज किया. जबकि सीबीआई ने सरकार को सीएस के खिलाफ एक्शन लेने को कहा था. एक्शन लेने वक्त उन्हें दंड क्या और कितना दिया जाए यह सरकार पर निर्भर करता है. लेकिन सरकार ने कार्रवाई के बदले सीएस को सिर्फ शो-कॉज किया.

इसे भी पढ़ेंः सिंदरी कारखाना शुरू करने के लिए झारखंड सरकार करे 210 करोड़ की स्टांप ड्यूटी माफ, 1250 मीट्रिक पानी हर घंटे चाहिए

मंत्री ने माना धान खरीदी का काम का नतीजा संतोषजनक नहीं
सूबे में धान खरीद को लेकर सरकार की कोशिशों का नतीजा संतोषजनक नहीं आ पा रहा है. खाद्य आपूर्ति एवं सार्वजानिक वितरण मामले के मंत्री सरयू राय ने बात मीडिया से सामने कही. कहा कि लेकिन हालात पिछले साल से बेहतर है लेकिन कई जिलों में धान क्रय की स्थिति चिंताजनक है. कही कि सबसे खराब हाल संथाल का है. पाकुड़ जिले के 12 किसान, साहेबगंज में 47, गोड्डा में 86 और दुमका में 141 किसान अभी तक सरकार के हाथों अपनी धान की उपज बेचने में दिलचस्पी दिखायी है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार सबसे अधिक हजारीबाग में 4881 और पलामू में 2598 किसान सरकारी धान क्रय केंद्र तक पहुंचे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप