चैनपुर प्रखंड के विद्यालयों की अव्यवस्था देख भड़के डीएसई, बीईईओ से मांगा स्पष्टीकरण, कार्रवाई भी संभव

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 17:37

Daltonganj : झारखंड में सरकार शिक्षा व्यवस्था में गुणात्मक सुधार लाने के लिए गंभीर प्रयास करने का दावा तो कई मौकों पर करती रही है. लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है. सरकारी विद्यालयों में अव्यस्था के मामले कई बार उजागर होते रहे हैं, लेकिन उचित कार्रवाई नहीं होती. हालांकि बुधवार को पलामू में कुछ अलग तरह का मंजर देखने को मिला. पलामू में नवनियुक्ति जिला शिक्षा अधीक्षक सुशील कुमार ने जिला मुख्यालय डालटनगंज से सटे चैनपुर प्रखंड के आधा दर्जन विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया तो वहां भारी अव्यवस्था देखकर हैरान हो गए. विद्यालयों में अनियमितता और गंदगी देखकर डीएसई साहब भड़क उठे और उन्होंने बीईईओ से स्पष्टीकरण देने को कहा है. उन्होंने विभागीय कार्रवाई शुरू करने की भी बात कही है.

इसे भी पढ़ें- मरीजों को असहनीय तकलीफ दे रहा रिम्स का बर्न वार्ड, चार एसी खराब, पंखे भी बेकाम  

लगातार मिल रही थी अव्यवस्था की शिकायत

दरअसल, लगातार मिल रही शिकायतों के बाद डीएसई विद्यालयों की हकीकत जानने के लिए चैनपुर प्रखंड क्षेत्र के विद्यालयों में पहुंचे. प्राथमिक विद्यालय (बीएमसी) चैनपुर की जांच करने पर डीएसई ने पाया कि यहां मात्र एक शिक्षिका आफसा यास्मीन अनुपस्थित थीं. 22 बच्चे विद्यालय आए थे और इधर-उधर खेल-कूद कर रहे थे. कक्षा पांच की छात्रा निक्की परवीन के पास विद्यालय की चाबी थी. यह चाबी किस परिस्थति में थी, समझना मुश्किल हो रहा था. वहीं राजकीय प्राथमिक विद्यालय निमियां में बच्चों की उपस्थिति बहुत खराब थी. 60 नामांकित बच्चों में से मात्र 20 बच्चे ही विद्यालय में उपस्थित थे. कन्या उत्क्रमित मध्य विद्यालय चान्दो में सरकार के आदेश के प्रतिकूल शिक्षक राम उपेन्द्र पांडेय बुनियादी विद्यालय पोलपोल में प्रतिनियोजन में है. उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कुरकुट्टा दो मंजिला भवन के आठ कमरों में संचालित मिला, जहां 112 बच्चे नामांकित पाए गए. यहां बच्चों की संख्या मात्र 23 थी. कई स्कूलों में मिड डे मील बंद पाया गया, तो कहीं गंदगी का अंबार था. वहीं स्कूली बच्चे भी बिना यूनिफॉर्म के थे. ऐसे में डीएसई का भड़कना लाजिमी था.

इसे भी पढ़ें- आदिम जनजाति की छीनी जा रही जमीन, शिकायत के बाद भी प्रशासन नहीं कर रहा कार्रवाई 

लापरवाह लोगों पर होगी कार्रवाई : डीएसई

औचक निरीक्षण के दौरान डीएसई ने बताया कि विद्यालय में पायी गयी अनियमितता और अनुपस्थिति के संबंध में संबंधित लोगों एवं चैनपुर के बीईईओ से स्पष्टीकरण मांगा गया है. साथ ही विभागीय प्रावधान के अनुसार ठोस कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na