डाल्टनगंज/गढ़वा: रमकंडा में मजदूरों से भरा ट्रक पलटा, दो महिला मजदूरों की मौत, आधा दर्जन लोग घायल

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 01/30/2018 - 13:35

Daltanganj/Garhwa: पलामू-गढ़वा की सीमावर्ती इलाके रमकंडा थाना क्षेत्र के चपरी गांव में मंगलवार को धान के बोरों और मजदूरों से लदा ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया. हादसे में दो महिला मजदूरों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई, जबकि आधा दर्जन मजदूर घायल हो गए. सभी घायलों को डाल्टनगंज सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इसे भी पढ़ें: गिरिडीह: चाकू गोदकर महिला की हत्या, बाथरूम में पड़ा मिला शव

धान काटकर बिहार से वापस लौट रहे थे सभी मजदूर

गौरतलब है कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र गढ़वा के भंडरिया थाना क्षेत्र के बिजका के रहने वाले सभी मजदूर धान काटने बिहार गए हुए थे. ये लोग धान काटकर वापस लौट रहे थे. तभी यह हादसा हो गया. प्रतिवर्ष जनवरी माह में गढ़वा में मजदूरों की मौत एक नियति बन गई है. आपको बताएं कि 14 जनवरी 2010 में इसी तरह की घटना में 31 मजदूरों की मौत हो गई थी. उस वक्त देश की यह बड़ी घटना थी.

इसे भी पढ़ें: स्किल समिट का सच: सरकार ने दावा किया 28 हजार युवाओं को दी नौकरी, इनमें से 15 हजार का अब नहीं कोई अता-पता

सारे मजदूर एक ही गांव के

हादसे में मरने और घायल मजदूर एक ही गांव के थे. भंडरिया थाना के बिजका गांव निवासी भोला मांझी की पत्नी कलावती देवी व भैरो मांझी की पत्नी की मौत घटनास्थल पर हो गयी. प्रत्येक वर्ष की तरह रोजगार की तलाश में भंडरिया इलाके से पलायन कर बिजका व रमकंडा थाना के हरहे गांव के करीब 20 मजदूर बिहार के हरदपुरवा गांव धनकटनी के लिए गए थे.

इसे भी पढ़ें: हाल 108 एंबुलेंस सेवा का : कृप्या आप लाइन पर बने रहें ... जब तक मरीज की जान ना..... (सुनें ऑडियो)

मुखिया और रमकंडा पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए भेजा 

मंगलवार की अहले सुबह करीब 5 बजे घटना की सूचना मिलते ही रमकंडा के एएसआई गुप्तेश्वर सिंह, समिन्द्र प्रसाद दल बल के साथ पहुंचे और शव को कब्जे में लिया. साथ ही घायलों को इलाज के लिए डाल्टनगंज सदर अस्पताल में भेजा. मुखिया श्रवण प्रसाद कमलापुरी सहित ग्रामीणों ने घायलों को अस्पताल भेजने में मदद की.

इसे भी पढ़ें: साइकिल से प्रदीप यादव पहुंचे विधानसभा, JPSC और JSSC को लेकर विपक्ष ने किया प्रदर्शन (देखें वीडियो)

डाल्टनगंज सदर अस्पताल में भर्ती मजदूर

डाल्टनगंज सदर अस्पताल में मुंशी सिंह की पत्नी बिंदू देवी (40वर्ष), कामेश्वर सिंह की बेटी जीतानी कुमारी (12वर्ष), गफार मांझी की पत्नी सुमित्रा देवी (40वर्ष), नाथू सिंह की पत्नी मुसनी देवी (21वर्ष), प्रेम मांझी की पत्नी मुन्नी देवी (21वर्ष), सुरेश सिंह की पुत्री ललीता कुमारी (14वर्ष) और लखन सिंह की पुत्री सुनीता कुमारी (18वर्ष) भर्ती हैं. सभी की स्थिति खतरे से बाहर है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.