दारोगा ने एसपी से कहा- डीएसपी के फोन से राष्ट्रीय अखबार के पत्रकार ने दी 24 घंटे में हटाने की धमकी

Publisher ADMIN DatePublished Tue, 04/24/2018 - 17:50

Ranchi/Pakur : पाकुड़ मुफस्सिल थाना के थाना प्रभारी संतोष कुमार ने पाकुड़ एसपी शैलेंद्र प्रसाद बर्णवाल से अपने ही महकमे के अधिकारी के खिलाफ शिकायत की है. शिकायत लिखकर थाना प्रभारी संतोष कुमार ने पाकुड़ अनुमंडल के पुलिस पदाधिकारी (डीएसपी) श्रवण कुमार पर गंभीर आरोप लगाए हैं. थाना प्रभारी संतोष कुमार के मुताबित डीएसपी श्रवण कुमार के फोन से उनकी मर्जी से वहां के राष्ट्रीय अखबार के एक स्थानीय पत्रकार ने थाना प्रभारी को फोन किया और धमकी दी है. फोन से बात करने के दौरान थाना प्रभारी ने डीएसपी से धमकी के बारे कहा तो डीएसपी ने कहा कि हम इस बारे बाद में बात कर लेंगे.

इसे भी पढ़ें : पाकुड़ : भाजपा नेत्री ने थाना प्रभारी की कार्यशैली पर उठाए सवाल, सीएम को लिखा पत्र, एजेंट बहाल कर वाहनों से अवैध वसूली का आरोप

क्या दी धमकी, क्या था मामला

थाना प्रभारी संतोष कुमार का लिखित आवेदन
थाना प्रभारी संतोष कुमार का लिखित आवेदन

थाना प्रभारी संतोष कुमार ने अपने लिखित आवेदन में कहा है कि डीएसपी श्रवण कुमार के नंबर 9006525435 से उनके मोबाइल नंबर 8002281710 पर 23 अप्रैल को करीब 11:13 बजे फोन आया. डीएसपी ने थाना प्रभारी को फोन पर राष्ट्रीय अखबार के एक स्थानीय पत्रकार से बात करने का आदेश दिया. बात करने के दौरान पत्रकार ने एक साजिश के तहत थाना प्रभारी को फंसाने और 24 घंटे में थाना प्रभारी के पद से हटा देने की धमकी दी. थाना प्रभारी ने यह भी दावा किया है कि इस बात का उनके पास पुख्ता सबूत भी है. थाना प्रभारी ने अपने लिखित शिकायत में यह भी कहा है कि पत्रकार कई बार उन्हें व्यक्तिगत रूप से मुझसे भेंट करने और आर्थिक लाभ पहुंचाने का दबाव बनाए रखता है. थाना प्रभारी ने कहा है कि जिस तरीके से पत्रकार ने उनसे फोन पर बात की वो मनोबल तोड़ने वाला है और थाना प्रभारी के सरकारी काम में हस्तक्षेप कर प्रताड़ित करने का मामला बनता है. थाना प्रभारी ने एसपी को लिखे शिकायत पत्र में मामले में संलिप्त सभी के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया है.           

इसे भी पढ़ें : पाकुड़ : जिंदगी और मौत से जूझ रही मारपीट पीड़िता, पुलिस ने केस दर्ज करने से किया मना, पीड़िता के बेटे को जेल में डालने की दी धमकी

सुनिए डीएसपी के फोन से  पत्रकार ने थाना प्रभारी से कैसे बात की  यहां क्लिक करेंListen_Audio.mp3

मुझे दी गयी धमकीः संतोष कुमार, थाना प्रभारी

मैंने जो भी बात एसपी को शिकायत पत्र में लिख कर दी है, वो सच है. डीएसपी श्रवण कुमार के फोन से फोन आया, पत्रकार से बात करने के लिए कहा गया. बात करने के दौरान एक मामले को लेकर पत्रकार ने कहा कि मुझे 24 घंटे में थाना से हटवा लेंगे.

मैंने विवाद सुलझाने के लिए फोन दिया, नहीं पता था कि पत्रकार धमकी देंगेः श्रवण कुमार, डीएसपी

वीर कुंवर सिंह जयंती को लेकर पत्रकार और थाना प्रभारी के बीच कुछ विवाद हुआ था. मैंने विवाद को सुलझाने के लिए पत्रकार को फोन दिया. मुझे नहीं पता था कि पत्रकार मेरे फोन से थाना प्रभारी को धमकी देंगे. मेरा मकसद सिर्फ विवाद खत्म करना था, ना कि थाना प्रभारी को धमकी दिलवाना.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.