मत छीनों स्कूल नहीं तो हो जाएंगे शिक्षा से दूर

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 16:47

Lohardaga : किस्को प्रखंड के ऊपर हिसरी गांव की महिलाएं व बच्चे डीसी से मिलकर गांव के उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय को विलय मुक्त करने की गुहार लगाई है. ग्रामीण महिलाओं ने बताया कि 15 मई को स्कूल के शिक्षकों के द्वारा ग्रामीणों को यह सूचना दी गई थी कि उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय अब हिसरी नवाटोली में चली गई है. जिसकी वजह से उनके बच्चों का भविष्य में अंधकार में जाता नजर आ रहा है.

इसे भी पढ़ें- येदियुरप्पा ने तीसरी बार कर्नाटक की संभाली कमान, बहुमत साबित करने के लिए मिला 15 दिनों का वक्त

स्कूल के विलय से बच्चों का भविष्य में अंधकार हो जाएगा

एक ओर जहां सरकार सभी बच्चों के भविष्य बनाने में जुटी हुई है वहीं दूसरी ओर स्कूल के विलय से गांव के बच्चों का भविष्य ही अंधकार हो जाएगा. ग्रामीणों का कहना था कि हिसरी नवाटोली गांव से दूर है ऐसे में बच्चों का वहां जाना संभव नहीं हो पाएगा. ग्रामीण महिलाओं ने विद्यालय को विलय मुक्त करने की मांग की है.

इसे भी पढ़ें- माओवादियों की करतूत पर पुलिस ने ग्रामीणों पर फोड़ा ठीकरा, कर दी बेरहमी से पिटाई

कौन-कौन थे शामिल

गुहार लगाने वालों में सबाना बीबी, नसीदा खातून, असफुन बीबी, कैरनु भगत, नुसरत खातून, नसीमा खातून, शहीदन खातून, शबनम बीबी, गुलअपशा बीबी, अजमेरी खातून, संजीदा खातून, सबीहा खातून के अलावे बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं व बच्चे मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na