दर्जनों अवैध क्रशर को किया गया ध्वस्त, क्रशर मालिकों में अफरा-तफरी

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 02/22/2018 - 21:30

Sahibganj : जिला मुख्यालय में लगातार तीसरी बार फिर अवैध क्रशरों पर बड़ी कार्रवाई की गयी, वही गुरुवार को बरहड़वा प्रखंड के कोटालपोखर थाना क्षेत्र के ढाटापड़ा पहाड़ पर संचालित दर्जनों अवैध पत्थर क्रशरों खदानों को ध्वस्त कर दिया गया. इस दौरान जिला टास्क फोर्स टीम के  नेतृत्व कर रहे डीएफओ मनीष कुमार तिवारी ने क्रशर से संबंधित मालिकों से कागजात की मांग की गयी. इस  दौरान अवैध रूप से चल रहे इलियास शेख, मैनुल हक आबुल कासिम, एनाल शेख, अलीमुद्दीन सेख मो. हजरत पिंटू शेख, नरेश मडैया सहित कुल 12 क्रशर को चिन्हित कर ध्वस्त किया जा किया गया. डीएफओ मनीष तिवारी ने कहा कि कुल 21 क्रशर की जांच की गई. जिनके पास सीटीओ सहित अन्य कागजात नहीं पाए गए. वैसे क्रशरों को ध्वस्त कर दिया गया. कहा कि किसी भी सुरत मे अवैध क्रशर व अवैध उत्खनन करने नहीं दिया जाएगा. टीम में जिला योजना पदाधिकारी रामनिवास सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी राजमहल चिंटू दोराईबुरू, पतना बीडीओ विजय प्रकाश मरांडी, अंचल निरीक्षक संजय सिंह, हल्का कर्मचारियों निरंजन कुमार, बरहड़वा थाना प्रभारी विनोद कुमार, रांगा थाना प्रभारी बीडी चौधरी, कोटालपोखर सअनि ज्ञानेश्वर पाडेय आदि मौजूद थे. बता दें कि इसके पहले भी बीते 10 फरवरी को टीम ने अवैध रुप से चल रहे दर्जनों क्रशरों को ध्वस्त किया गया था.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड के चारा घोटाले में गव्य निदेशक को कृषि विभाग के सचिव का शो-कॉज, पूछा क्यों नहीं आप पर दंडात्मक कार्रवाई की जाए

इसे भी पढ़ेंः गढ़वा : BDO की अच्छी पहल, विक्षिप्त महिला को रिनपास भेजकर अपने खर्च पर कराया इलाज

राज्य सरकार के सख्त निर्देश पर हो रही कार्रवाई

जिले में हो रहे खनन व संचालित क्रेशर के द्वारा नियमों को अनदेखी को लेकर जिला प्रशासन काफी गंभीर है. इससे पूर्व में जो जिला उपायुक्त शेलेश कुमार चौराशिया के कार्यकाल में ही राज्य सरकार के दिशा निर्देश पर 9 फरवरी को बैठक कर 10 फरवरी को जिला के कोटालपोखर थाना क्षेत्र में 13 अवैध क्रेशरों को ध्वस्त किया गया था, फिर 19 फरवरी सोमवार को उपायुक्त साहिबगंज संदीप सिंह जी के द्वारा चार सदस्य कमेटी का गठन किया गया था, इस कमेटी के अध्यक्ष डीएफओ मनीष तिवारी, सचिव एसडीएम अमित प्रकाश एवं डीएमओ कृष्णा किष्कु तथा कमेटी के सदस्य डीपीओ रामनिवास सिंह को बनाया गया था. इन चारों सदस्यीय टास्क फोर्स कमिटि को उपायुक्त के द्वारा सख्त हिदायत दी गई थी कि जिले में जितने भी अवैध खनन के काम करने वाले पत्थर माफिया है, उन सभी पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए. वही उपायुक्त ने जिला स्तरीय जांच समिति द्वारा सभी को खनन पट्टा धारियों, भंडारण अनुज्ञप्ति, क्रेसर अनुज्ञप्ति की जांच कर, मानकों के अनुपालन तथा उल्लंघन के संबंध में खनन पट्टा रद्द करने एवं निलंबित करने आदि से संबंधित स्पष्ट संयुक्त प्रतिवेदन एक सप्ताह के अंदर समर्पित करने का निर्देश दिया गया था. उसी के दौरान 21 फरवरी बुधवार को मिर्जाचौकी थाना क्षेत्र के आधा दर्जन से ज्यादा अवैध क्रेशरों को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया गया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप