पाकुड़ में पुलिस के डर से खदान में गिरा युवक, मौत

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 01/19/2018 - 16:04

Pakur : जिले के मालपहाड़ी ओपी क्षेत्र के पिपलजोड़ी खनन क्षेत्र में देर रात जिला खनन पदाधिकारी और सहायक खनन पदाधिकारी ने संयुक्त रूप से छापेमारी की. इस छापेमारी में उन्होंने चार ट्रकों को जब्त किया गया. जिसमें से तीन ट्रकों में पत्थर के चिप्स ओवर लोडेड थे. पकड़े गये ट्रकों में से एक ट्रक के ड्राइवर ने अपने मालिक को फोन किया. ट्रक का मालिक पश्चिम बंगाल के राजग्राम का रहने वाला है. ड्राइवर द्वारा ट्रक पकड़े जाने की खबर पाकर ट्रक का मालिक रवि खान अपने दो साथियों के साथ उस स्थान पर पहुंचा जहां पर ट्रकों को पकड़ा गया था.

पुलिस की लाठी से डरकर खदान में गिरा युवक

ट्रक का मालिक व उसके साथी पदाधिकारियों से बात ही कर रहे थे कि इसी बीच मालपहाड़ी थाना प्रभारी ने लाठी भांजना शुरू कर दिया. लाठियों के डर से सभी इधर-उधर भागने लगे. वहीं भागने के क्रम में चंदन बनर्जी नाम का एक युवक खदान में गिर गया. लेकिन उसके गिरने की भनक किसी को भी नहीं लगी. जब थाना प्रभारी ने दो युवकों को पकड़ लिया और थाना ले जाने लगे तो ट्रक के मलिक रवि खान ने अपने साथी चंदन के ना मिलने की बात कही. जिसके बाद उसकी खोजबीन की गयी तो पता चला की वह दीपक मखीजा के खदान में गिर गया है. सभी ने काफी मश्कत के बाद चंदन को खदान से बाहर निकाला. चंदन की हालत बहुत ही गंभीर थी. पुलिस ने चंदन समेत तीनों युवकों को गाड़ी में बैठाकर राजग्राम पश्चिम बंगाल की सीमा पर छोड़ दिया.

इसे भी पढ़ें- देश के पांच वर्ष की उम्र के बच्चों में हर तीसरा बच्चा कुपोषण का शिकार, झारखंड के सबसे ज्यादा बच्चे हैं अंडरवेट

खदान में गिरे युवक की हुयी मौत

इधर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार घायल चंदन को मुराराई में इलाज के लिये भर्ती कराया गया. जहां उसकी मौत हो गयी. इस बाबत जब मालपहाड़ी थाना प्रभारी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि तीनो युवकों को रात में ही छोड़ दिया गया था. किसी के कहीं गिरने या उनपर पुलिस के द्वारा लाठी चलाने की बात गलत है.

हमें युवक के खदान में गिरने की खबर नहीं : सहायक खनन पदाधिकारी 

वहीं सहायक खनन पदाधिकारी सुरेश शर्मा ने कहा कि रात में कुछ ट्रेकों को पकड़ा गया था. जिसके बाद उसे छुड़ाने के लिये पश्चिम बंगाल से तीन युवक आये थे. लेकिन हमने जब्त ट्रकों को पुलिस के हवाले कर दिया था. उसके बाद क्या हुआ हमें इस बात की कोई खबर नहीं.

इसे भी पढ़ें- बोकारो एसपी ने कनीय अफसरों से कहा, बेटे को नौकरी देने के लिए शहीद होते हैं पदाधिकारीः एसोसिएशन

अगर घटना सही है तो करायी जायेगी इसकी जांच : एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल

मामले को लेकर एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल ने कहा कि इस मामले की उन्हें जानकारी नहीं मिली है. अगर इस तरह की घटना हुई है तो इसकी जांच  करायी जायेगी. उधर ट्रक मालिक रवि खान ने फोन पर बताया कि हमलोग वहां गए थे जहां ट्रकों को पकड़ा गया था. जिसके बाद पुलिस को देखकर मेरा साथी भागने लगा और खदान में गिर गया.