बजट के अभाव में अमेरिकी सरकार का कामकाज ठप, ट्रंप ने डेमोक्रेट्स को ठहराया जिम्मेदार

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/20/2018 - 16:46

Washington: एक ओर ट्रंप राष्ट्रपति पद पर अपने एक साल पूरे होने के उत्साह में लोगों को उपनी उपलब्धियां गिनाते हुए अपनी नीतियों को देश के लिए सबसे अच्छा बता रहे हैं, अमेरिकी अर्थव्यवस्था को अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में पहुंचाने का दंभ भर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर अमेरिकी सीनेट ने सरकारी खजाने से संघीय सरकार के खर्चे के लिए अल्पकालिक व्यय विधेयक को नामंजूर कर दिया है. सीनेट के ऐसा करने से सरकार का कामकाज आज औपचारिक रूप से बंद हो गया.  ऐसा पांच साल में पहली बार हुआ है जब अमेरिकी सरकार का कामकाज औपचारिक रूप से बंद हो गया. कामकाज बंदी स्थानीय समयानुसार रात 12 बजकर एक मिनट पर तब शुरू हुई, जब उस महत्वपूर्ण कदम को रोकने के लिए कुछ रिपब्लिकन भी डेमोक्रेट्स के साथ जुड़ गए जिससे पेंटागन और अन्य संघीय एजेंसियों को अल्पकाल के लिए कोष मुहैया हो जाता.

इसे भी पढ़ें: मनरेगा योजना में सामने आया बड़ा घोटाला, 32 सप्‍लायर को 32 करोड़ 43 लाख जमा करने का नोटिस

आवश्यक 60 मत हासिल नहीं कर पाया विधेयक

ट्रंप ने कामकाज बंदी के लिए डेमोक्रेट्स को जिम्मेदार बताया. राष्ट्रपति ने कहा, डेमोक्रेट कर कटौती की बड़ी सफलता को क्षीण करने में मदद करने के लिए कामकाज बंदी चाहते हैं. अंतिम समय तक द्विदलीय बैठकों के बावजूद 16 फरवरी तक सरकार को कोष देने संबंधी विधेयक आवश्यक 60 मत हासिल नहीं कर पाया. सीनेट में इस अल्पकालिक व्यय विधेयक के समर्थन में 50 मत पड़े और विपक्ष में 48 मत पड़े. अल्पकालिक व्यय विधेयक को प्रतिनिधि सभा ने बृहस्पतिवार को पारित कर दिया था.

इसे भी पढ़ें: हेबर के इज ऑफ डूइंग बिजनेस से संबंधित पैसे के भुगतान कराने के एवज में सीएस ने अपने बेटे के बिजनेस में निवेश का डाला था दबाव !

ट्रंप और रिपब्लिकनों को डेमोक्रेट्स के साथ चर्चा के लिए विवश करने की रणनीति का माना जा रहा हिस्सा

यह डेमोक्रेट्स की रणनीति का हिस्सा है जिससे कि निर्वासन का सामना कर रहे अवैध आव्रजकों के मुद्दे पर राष्ट्रपति ट्रंप और रिपब्लिकनों को डेमोक्रेट्स के साथ चर्चा के लिए विवश किया जा सके. बजट प्रबंधन कार्यालय के निदेशक मिक मुल्वानी ने संवाददताओं से कहा कि कोशिश की जा रही है कि यह कामबंदी 2013 की कामबंदी के मुकाबले कम असरकारी हो.

इसे भी पढ़ें: बकोरिया कांड का सच-11 : जब्त हथियार से फायरिंग कर सार्जेंट मेजर ने मुठभेड़ का साक्ष्य बनाया, फिर जांच के लिए एफएसएल भेजा

 जानें इससे संबंधित कुछ खाास बातें

- कामकाज बंदी का अधिकांश असर सोमवार से दिखेगा जब संघीय सरकार के कर्मी अपने काम पर नहीं आ पाएंगे और उन्हें बिना वेतन के घर पर ही रहना होगा.

- ऐसा अनुमान है कि आठ लाख से ज्यादा संघीय कर्मी गैर हाजिर रहेंगे. केवल आवश्यक सेवाएं ही खुलेंगी.

- इससे पहले सरकार का कामकाज 2013 में बंद हुआ था.

- मुल्वानी ने कहा, सेना अब भी काम करेगी, सीमाओं पर अब भी पहरेदारी होगी, दमकलकर्मी अब भी काम करेंगे और पार्क खुले रहेंगे. लेकिन इन सभी मामलों में लोगों को भुगतान नहीं किया जाएगा.

- अक्तूबर 2013 में हुई पिछली कामबंदी 16 दिन तक चली थी. इससे पहले की कामबंदी 21 दिन चली थी जो छह जनवरी 1996 को खत्म हुई थी.

- हाल के इतिहास में यह पहली बार है जब कामबंदी ऐसे समय हुई है, जब दोनों सदनों-प्रतिनिधि सभा और सीनेट और यहां तक कि व्हाइट हाउस भी एक ही पार्टी द्वारा नियंत्रित है.

ट्रंप ने कहा अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है अमेरिकी अर्थव्यवस्था  

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति पद संभालने के एक वर्ष पूरा होने की पूर्व संध्या पर कहा कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था शायद अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है और देश बेहतरीन काम कर रहा है. ट्रंप ने व्हाइट हाउस के रोज गार्डन से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए नेशनल मॉल में मार्च फॉर लाइफके प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा, राष्ट्रपति के रूप में शपथ लिए हुए कल मुझे ठीक एक साल हो जाएगा. और मैं कहूंगा कि हमारा देश काफी अच्छा कर रहा है. हमारी अर्थव्यवस्था शायद अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है. पिछले साल 20 जनवरी को 71 वर्षीय ट्रंप ने अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी.

इसे भी पढ़ें: सीएस राजबाला के हंसने पर सदन में बरपा हंगामा, विपक्ष ने हाथ में जूते लेकर कहाः सदन का उड़ाया मजाक या रघुवर पर हंसीं राजबाला

अमेरिका की बेहतरी के लिए काम कर रही है हनारी नीतियाः ट्रंप

ट्रंप ने कहा कि उनकी नीतियां अमेरिका की बेहतरी के लिए काम कर रही है. आप नौकरी की संख्याओं को देखें या हमारे देश में वापस आने वाली कंपनियों को देखें, आप स्टॉक मार्केट को देखें जो सवार्धिक ऊंचाई पर है, बेरोजगारी पिछले 17 सालों में सबसे नीचले स्तर पर है. ट्रंप ने कहा कि उन्होंने कार्यभार संभालने के एक सप्ताह के भीतर ही अमेरिका के राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन द्वारा पहली बार लागू किए मेक्सिको सिटी नीति को फिर से बहाल किया. उन्होंने धार्मिक आजादी और गर्भपात जैसे मसलों की भी चर्चा की. नेशनल मॉल में बड़े स्क्रीन पर ट्रंप का भाषण हजारों लोग सुन रहे थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.