दुमकाः छह सूत्री मांगों को लेकर झारखंड राज्य सेवाकर्मी संयुक्त संघर्ष मोर्चा का धरना

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 01/16/2018 - 21:47

Dumka: छह सूत्री मांगों को लेकर झारखंड सेवाकर्मी संयुक्त मोर्चा ने दुमका में धरना-प्रदर्शन किया और रैली निकाली. प्रदर्शनकारियों ने उपायुक्त कार्यालय तक रैली निकाली और फिर वहां पर धरना दिया. धरना को संबोधित करते हए वक्ताओं ने कहा कि सरकार मनमाने ढंग से काम कर रही है. सरकार अपने कर्मचारियों की सुविधाओं की अनदेखी कर रही है. ऐसे में राज्य सरकार के कर्मचारियों का मनोबल गिर रहा है. कर्मचारियों को केन्द्र के दिशानिर्देश के अनुरूप सुविधा नहीं दी जा रही है रही है. इसलिए राज्य सरकार के विरुद्ध कर्मचारियों को धरने पर बैठना पड़ा है.  

मुख्यमंत्री के नाम उपायुक्त को सौंपा गया मांगपत्र

धरना के बाद प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री के नाम उपायुक्त को छह सूत्री मांगपत्र सौंपा, जिसमें मांग की गयी है कि केंद्र सरकार के दिशानिर्देश के मुताबिक कर्मचारियों को मकान, किराया भत्ता, परिवहन भत्ता, शिशु शिक्षण भत्ता और एलटीसी की सुविधा दी जाये.

इसे भी पढ़ेंः रमेश सिंह मुंडा हत्याकांडः NIA ने बुंडू से किया दो लोगों को गिरफ्तार, कोर्ट ने भेजा 5 दिन के रिमांड पर

पूरे राज्य के लिए लागू किया जाये परिवहन भत्ता

कर्मचारियों ने मांग की है कि परिवहन भत्ता पूरे राज्य के लिये लागू किया जाये. केंद्र के अनुरूप राज्य के सभी कर्मियों का वेतन सेवाशर्त एवं प्रोन्नति का लाभ प्रदान किया जाए. राज्य के सभी कर्मियों को कैशलेस चिकित्सा सुविधा प्रदान किया जाए.

आउटसोर्सिंग की प्रक्रिया पर लगे रोक, कर्मियों की सेवा की जाये नियमित

प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि केंद्रीय पेंशन योजना समाप्त करते हुए पुरानी पेंशन को सभी राज्य कर्मियों के लिए लागू किया जाए, साथ ही राज्य सरकार द्वारा अनुबंध एवं आउटसोर्सिंग की प्रक्रिया पर रोक लगायी जाये एवं पूर्व से कार्यरत कर्मियों की सेवा को नियमित किया जाये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.