समाहरणालय में लगी आग तो खतरे में पड़ेगी हजारों की जान, बिन नोजल कनेक्शन के है पाइपलाइन, सिलेंडर भी भगवान भरोसे

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 21:07

Saurav Shukla

Ranchi : कहने को तो रांची झारखंड की राजधानी है और राज्य गठन के बाद यहां तेज रफ्तार से विकास के कार्य किए गए. विभिन्न विभागों के संचालन के लिए युद्ध स्तर पर बड़े-बड़े भवनों का निर्माण रांची में किया गया. इसी कड़ी में सरकार के द्वारा दो भागों में (A और ब्लॉक) आलीशान समाहरणालय का निर्माण भी किया गया. जहां से रांची के विभिन्न विभागों का संचालन होता है. इस समाहरणालय में प्रतिदिन सैंकड़ो की संख्या में अधिकारी और हजारों की संख्या में लोगों का आवागमन होता है. यहां आने वाले लोगों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से दोनों ही ब्लॉक में सैंकड़ो की संख्या में फायर फाइटर के साथ हर एक तल्ले पर पानी का पाईप लाईन बिछाया गया. ताकि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए इन्हीं उपकरणों का सहारा लिया जा सके, लेकिन गौर करने वाली बात है कि यहां आने वाले अधिकारियों को यह मालूम नहीं कि जितने भी फायर फाइटर लगाए गए हैं उसमें गैस रिफीलिंग की तारीख अंकित नहीं है. लिहाजा आपात स्थिति से निपटने के समय ये उपकरण धोखा दें सकते हैं. न्यूज विंग संवाददाता ने दोनों ही ब्लॉक में लगे सभी फायर फाइटर उपकरणों का जायजा लिया लेकिन किसी में तारीख अंकित नहीं पाया.

 इसे भी पढ़ें- गांवों के विकास से झारखंड बनेगा देश का विकसित राज्य, महिला सशक्तीकरण को मिलेगा बढ़ावा     

zz
पाइपलाइन में पानी का कनेक्शन नहीं

पाइपलाइन है लेकिन किसी में नहीं है कनेक्शन

जिला समाहरणालय जहां हर रोज हजारों लोगों का आना-जाना है. लोग परेशानियों को दूर करने आते हैं मगर वे किसी परेशानी में न पड़ जाएं,  इसके लिए प्रशासन ने समाहरणालय के हर एक कोने में आग लगने की स्थिति में काबू पाने के लिए पाइपलाइन की व्यवस्था कर रखी है. इसके बावजूद आग को बुझाया नहीं जा सकेगा. ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी पाइप लाइन से नोजल का कनेक्शन ही नहीं है. यही हाल दोनों ब्लॉक में है.

गैस रिफीलिंग और नेक्स्ट ड्यू डेट नहीं है अंकित

समाहरणालय में आग पर काबू पाने के लिए कई जगह सिलेंडर लगे हुए है. जिसमें मैन्यूफैक्चरिंग डेट तो अंकित है पर उसमें गैस है या नहीं ये पता लगाना थोड़ा मुश्किल है. सिलेंडर में न तो रिफीलिंग डेट अंकित है और न ही नेक्स्ट ड्यू डेट. समाहरणालय की सुरक्षा की दृष्टि से यह अत्यंत ही महत्वपूर्ण है. पर जिला प्रशासन का इस ओर जरा भी ध्यान नहीं, और न किसी अधिकारी के पास इसके लिए समय ही है.

िि
सिलेंडर में रिफीलिंग डेट नहीं

इसे भी पढ़ें-  लॉज व हॉस्टल के लिए आए 65 आवेदन, 12 को ही मिली स्वीकृति, ऑनलाइन होगी प्रक्रिया    

किस फ्लोर  में कितने सिलेंडर

ब्लॉक बी में कुल 64 सिलेंडर

निचला तल्ला 12

पहला तल्ला 10

 दूसरा तल्ला 9

 तीसरा तल्ला 8

 चौथा तल्ला 12

 पांचवां तल्ला 7

 छठा तल्ला  6

इसे भी पढ़ें- पलामू : 13 करोड़ 56 लाख में बिकी जपला सीमेंट फैक्ट्री, झारखंड सरकार के उद्योग विभाग की याचिका को उच्च न्यायालय ने किया खारिज

ुु
बिन पानी का पाइपलाइन

ब्लॉक ए में कुल 84

निचला तल्ला 16

पहला तल्ला  15

दूसरा तल्ला  15

तीसरा तल्ला 16

चौथा तल्ला  16

पांचवां तल्ला  6

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na