गिरिडीह: अस्पताल का चक्कर लगा रही महिलायें, नहीं हो रहा बंध्याकरण (देखें वीडियो)

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 02/02/2018 - 17:15

Giridih : सरकार स्वास्थ्य-व्यवस्था में सुधार को लेकर  दावा पर दावा कर रही है. जिला के उपायुक्त भी लगातार यह कोशिश कर रहे हैं कि सरकारी अस्पतालों की स्थिति में सुधार आए. पर गिरिडीह सदर अस्पताल प्रबंधन पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है. अव्यवस्था और लापरवाही को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाला गिरिडीह सदर अस्पताल इस बार बंध्याकरण को लेकर चर्चा में है.  करीब दर्जन भर महिलाएं बंध्याकरण अॉपरेशन के लिए अस्पताल का चक्कर लगा रही हैं. लेकिन सदर अस्पताल में उनका अॉपरेशन नहीं हो रहा है. अस्पताल की चक्कर लगा रही महिलाओं का आरोप है कि बीते 4 दिन से हम लोग अस्पताल में आ रहे हैं. लेकिन हर दिन कल आने की बात कह कर लौटा दिया जाता है. 

इसे भी पढ़ें ः जेएमएम के स्थापना दिवस पर बौखलायी बीजेपी, उठाया पांच साल पुराना मामला, अपने ही मुद्दे में फंसे भाजपायी

पीरटांड़ प्रखण्ड के खुखरा से आई फुदवा देवी ने बताया कि कहा जा रही है कि आज रुक जाईये. कल अॉपरेशन करवा देंगे. आज भी 10 बजे का समय दिया गया था. लेकिन अब कहा जा रहा है कि शाम हो गया है. आज नहीं हो सकता. कल होगा.  पीरटांड़ के ही खुखरा पंचायत से आये सुखदेव मंडल ने बताया कि वो अपनी छोटी पुतोहू के बंध्याकरण के लिए लाए दो दिन पहले गिरिडीह अाएं. लेकिन अब तक जांच नहीं हुअा है. तीन दिन से अस्पताल में रुके हुए हैं.  बंध्याकरण अॉपरेशन के लिए ही आयी बेंगाबाद की बबिता देवी ने बताया कि भूखे रह रहे है.  बच्चा छोटा है. डॉक्टर कुछ सुन ही नहीं रहें है.  खुखरा की नीतू देवी ने बताया कि  बोला कल कर देंगे, लेकिन कल तो यहां होता ही नहीं है. पीरटांड़ खुखरा रानी देवी ने बताया कि 3 दिन से वो यहां रुकी हुई है. गरीब है इसलिए सदर आयी है.  यदि अमीर होती तो प्राइवेट में नहीं जाते. 

इसे भी पढ़ें ः जेएमएम के स्थापना दिवस पर बौखलायी बीजेपी, उठाया पांच साल पुराना मामला, अपने ही मुद्दे में फंसे भाजपायी

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.