गोमिया उपचुनावः बबीता देवी के दोबारा नामांकन के बहाने दिखी विपक्षी एकता

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/10/2018 - 15:32

Bokaro : गोमिया उप चुनाव की सरगर्मी तेज है. गुरुवार को झामुमो प्रत्याशी बबीता देवी ने फिर से नामांकन किया. इस नामांकन के बहाने तेनुघाट में विपक्ष एकमंच पर एकजुट दिखा. इस दौरान झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, कॉग्रेस के पूर्व सांसद सुबोधकांत सहाय, पूर्व मंत्री मन्नान मल्लिक, सीपीआई के पूर्व सांसद भुनेश्वर प्रसाद मेहता, निरसा विधायक अरूप चटर्जी के अलावे विपक्ष के कई नेता मौजूद रहे. और इस दौरान निशाने पर रही रघुवर सरकार. सभी वक्ताओं ने कहा कि सभी को मिलकर राज्य के रघुवर सरकार को जवाब देने के लिये तैयार रहना है. सभी को मिलकर इस चुनाव में सरकार को जवाब देना है.

इसे भी पढ़ेंः माधव लाल सिंह के नोमिनेशन में बीजेपी ने झोंकी पूरी ताकत, जेएमएम की बबीता देवी ने किया मुहूर्त वाला नामांकन

नामांकन से पहले शक्ति प्रदर्शन

VVCF
एकमंच पर विपक्ष के कई नेता

गोमिया उपचुनाव को लेकर जहां एनडीए में दरार दिख रही है. वही विपक्ष एकजुट दिख रहा. एनडीए में रार का जेएमएम समेत सभी विपक्षी पार्टियां लाभ उठाना चाह रही है. इसलिए गोमिया उपचुनाव में जेएमएम प्रत्याशी बबीता देवी के एकबार फिर नामांकन से पहले विपक्ष ने अपनी एकता दिखाते हुए शक्ति प्रदर्शन किया. तेनुघाट में भुवनेश्वर मेहता के नेतृत्व में पार्टी की ओर से एक विशाल रैली निकाली गयी है, जिसके बाद वहां एक जनसभा हुई. जनसभा के बाद बबीता देवी ने नामांकन दाखिल किया.

भीड़ ने जीत दिला दी : हेमंत

नामांकन से पहले विपक्ष की ताकत का एहसास कराते हुए हेमंत सोरेन बीजेपी पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि जेएमएम ने अलग राज्य की लड़ाई लड़ी. और अब झारखंड को बचाने के लिए लड़ रहे है. एक साजिश के तहत यहां उपचुनाव हो रहा है. इस चुनाव को मजबूती से लड़ना है. एक बड़ा गठबंधन यह बना है. एनडीए के यहां के दो प्रत्याशी हैं, एक कमल-दूसरा केला. इन लोगों ने मिलकर स्थानीय नीति ऐसी बनाई है, जो जनविरोधी है. साथ ही जनसभा में उमड़ी भीड़ को देख हेमंत सोरेन गदगद हो गये.

रघुवर दास पर सुबोधकांत का हमला

इस दौरान पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय ने कहा कि मोदी देश का जादूगर बने हुए है. और उनके जमूरे के रूप पर काम कर रहे है सूबे के मुखिया रघुवर दास. इसलिये इस सरकार की ओर से विपक्ष पर हमला किया जा रहा है. इस हमले का जवाब गोमिया और सिल्ली की जनता को उपचुनाव में देना है.

इसे भीपढ़ेंः उपचुनाव में दिखेगा पूर्व विधायकों की पत्नियों का जोर : झामुमो ने सिल्ली से सीमा व गोमिया से बबीता को बनाया उम्मीदवार

जनता हमें देगी न्याय: बबीता

नामांकन करने पहुंचीं बबीता देवी ने कहा कि उनके पति योगेन्द्र महतो को झूठे मुकदमे में फंसाकर यह चुनाव कराया जा रहा है. अब हमें जनता से न्याय चाहिए. गौरतलब है कि जेएमएम विधायक योगेन्द्र महतो को कोयला चोरी के मामले में कोर्ट ने दोषी पाते हुए सजा सुनायी थी. जिसके बात स्पीकर ने उनकी विधानसभा की सदस्यता रद्द कर दी. और अब गोमिया सीट पर उपचुनाव हो रहे हैं.

बता दें कि, झामुमो ने योगेंद्र महतो की पत्नी को अपना उम्मीदवार बनाया है,  तो सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने क्षेत्र के लोकप्रिय नेता माधवलाल सिंह को मैदान में उतारा है. वहीं, आजसू पार्टी ने पूर्व सरकारी अधिकारी लंबोदर महतो पर दांव खेला है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na