उग्रवादी गोपाल ने JJMP के जिस पप्पू लोहरा दस्ता पर बकोरिया कांड को अंजाम देने की बात कही थी, उसी दस्ते का गुडडू यादव लातेहार में मारा गया

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 01/19/2018 - 18:58

Ranchi : लातेहार के सदर थाना क्षेत्र के जैर पहाड़ी पर 18 जनवरी को झारखंड जन मुक्ति परिषद (जेजेएमपी) का उग्रवादी गुडडू यादव मारा गया. पुलिस ने दावा किया है कि गुडडू यादव को एक मुठभेड़ में मार गिराया गया. मुठभेड़ के बाद पुलिस को जेजेएमपी के एक उग्रवादी का शव मिला, जबकि दस हथियार बरामद किए गए. गुडडू यादव जेजेएमपी का कुख्यात उग्रवादी था और वह पप्पु लोहरा दस्ते में था. जानकार बताते हैं कि गुडडू यादव, पप्पु लोहरा का दाहिना हाथ था.

कहीं पप्पु लोहरा भी तो नहीं मारा गया !

 घटनास्थल से दस हथियार की बरामदगी के कारण चर्चा यह भी है कि पुलिस मुठभेड़ में जेजेएमपी के और उग्रवादी भी मारे गए.  जिसे शायद उग्रवादी अपने साथ ले जाने में सफल रहे. एक आशंका यह भी जतायी जा रही है कि कहीं पप्पु लोहरा भी तो नहीं मारा गया ?  क्योंकि घटनास्थल से जो हथियार बरामद हुए हैं, वह आधुनिक हथियार हैं.  हथियारों में एक एके-47, दो इंसास, एक एसएलआर, दो 303 राइफल, दो .315 राइफल, दो सेमी अॉटोमेटिक अमेरिकन राइफल (3006) और 700 चक्र गोली शामिल हैं. इस तरह के आधुनिक हथियार किसी भी उग्रवादी संगठन के कमांडरों के पास ही होता है. 

इसे भी पढ़ेंः जेजेएमपी ने मारा था नक्सली अनुराग व 11 निर्दोष लोगों को, पुलिस का एक आदमी भी था साथ ! (देखें वीडियो)

उल्लेखनीय है कि जिस मृतक जेजेएमपी का उग्रवादी गुडडू यादव जिस पप्पु लोहरा दस्ते का सदस्य था, उसी पप्पु लोहरा के दस्ते पर आठ जून 2015 की रात पलामू के सतबरवा थाना क्षेत्र के बकोरिया में नक्सली अनुराग और 11 निर्दोष लोगों की हत्या करने का आरोप है. करीब डेढ़ साल पहले जेजेएमपी के ही उग्रवादी गोपाल सिंह ने टीपीसी के जन अदालत में यह बात स्वीकार किया था. न्यूज विंग ने उग्रवादी गोपाल  सिंह का वीडियो के साथ खबर भी प्रकाशित किया था. हालांकि गोपाल सिंह के वीडियो को सीआइडी ने अब तक जांच में शामिल नहीं किया है. गौरतलब है कि नौ जून 2015 को पुलिस ने दावा किया था कि नक्सली अनुराग के दस्ते के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी. जिसमें 12 लोग मारे गए. गौर करने वाली बात यह भी है कि बकोरिया में हुए कथित मुठभेड़ का मामला अभी गर्म है. इस घटना को लेकर विपक्ष डीजीपी डीके पांडेय पर कार्रवाई की मांग कर रहा है. और पिछले तीन दिनों से लगातार विधानसभा में हंगामा चल रहा है.

इसे भी पढ़ेंः एडीजी एमवी राव ने सरकार को लिखा पत्र, डीजीपी डीके पांडेय ने फर्जी मुठभेड़ की जांच धीमी करने के लिए डाला था दबाव

बकोरिया में हुए कथित पुलिस मुठभेड़ में मारे गए पारा टीचर उदय यादव के पिता जवाहर यादव ने घटना की सीबीआइ जांच की मांग करते हुए हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर रखी है. जिसमें सुनवाई चल रही है. जवाहर यादव का भी यही आरोप है कि पुलिस ने जेजेएमपी के उग्रवादियों से मिल कर बकोरिया में निर्दोष लोगों की हत्या करवायी थी. इसलिए मामले की सीबीआइ जांच का आदेश दिया जाए. उल्लेखनीय है कि बकोरिया मुठभेड़ और इसकी जांच शुरु से ही विवादों में रही है. सीआइडी के पूर्व एडीजी एमवी राव सरकार को पत्र लिख कर यह कह चुके हैं कि जिस किसी ने भी जांच को सही दिशा देने की कोशिश की, उसका तबादला कर या करा दिया गया. 14 दिसंबर को उनका तबादला भी इसी कारण किया गया. 

इसे भी पढ़ेंः डीजीपी डीके पांडेय ने एडीजी एमवी राव से कहा था कोर्ट के आदेश की परवाह मत करो !

सुनिए TPC की जन अदालत में JJMP के गोपाल सिंह ने क्या कहा था;