हजारीबागः बिना मुआवजा दिये केरेडारी में रैयती जमीन पर सड़क बना रहा है NTPC

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 10:03
Hazaribagh: हजारीबाग के केरेडारी के जोरदाग गांव में चट्टी बरियातू कोल माइंस के द्वारा एनटीपीसी के द्वारा रैयती जमीन पर जबरदस्ती सड़क निर्माण करा रहा है. जिस भू-खंड पर सड़क का निर्माण कराया जा रहा है, उसके लिए जमीन मालिकों को मुआवजा नहीं दिया गया है. और जिस सड़क का निर्माण कराया जा रहा है, उसका इस्तेमाल सार्वजनिक नहीं होने वाला है. सड़क का इस्तेमाल एनटीपीसी अपने लिए करेगी. बिना मुआवजा दिये सड़क का निर्माण का विरोध करने पर एनटीपीसी के द्वारा रैयतों (जमीन मालिक) को धमकाने और झूठे केस में फंसाने की धमकी दिये जाने की बात भी सामने आयी है.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड में ओडीएफ की खुली पोल : अब तक मात्र आठ ही जिले ओडीएफ घोषित, सीएम व मंत्री भी जता चुके हैं नाराजगी

ग्रामीण बताते हैं कि उन्होंने पूर्व में भी संबंधित थाना, अंचलाधिकारी, एसडीपी, डीसी और मुख्यमंत्री जन संवाद तक इसकी शिकायत की थी. जिसके बाद काम को रोक दिया गया था. लेकिन आठ मई से दोबारा काम शुरु कर दिया गया है. ग्रामीणों का आरोप है कि विरोध करने पर एनटीपीसी के गार्ड यह कहता है कि सड़क निर्माण हर हाल में होगा. प्रशासन किसी की मदद करने नहीं आयेगा. 
स्थानीय लोगों का कहना है कि एनटीपीसी के बाद ग्रामीणों को लगा था कि उनका विकास होगा. स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा. क्षेत्र में खुशहाली आयेगी. लेकिन उल्टा हो रहा है. एनटीपीसी को सिर्फ अपना काम निकालने से मतलब है. ग्रामीणों को नौकरी मिलने की बात तो दूर, उन्हें उनका जायज हक भी नहीं मिल रहा है. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na