वो निकला था अलग झारखंड की लड़ाई लड़ने, 27 सालों तक महानगर की चकाचौंध में रहा गुम

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 16:07

Lohardaga: लोहरदगा के सदर थाना क्षेत्र में पड़ने वाले जोरी गांव के ग्रामीण बुधवार को उस समय आश्चर्य में पड़ गए जब उन्होंने गांव से 27 साल पहले दिल्ली गया युवक अचानक वापस लौटा. पहले तो गांववालों को यकीन ही नहीं हुआ कि वो स्वर्गीय गंगाधर सिंह के पुत्र बलराम सिंह को देख रहे हैं. 27 सालों बाद बलराम सिंह की वापसी से लोग आश्चर्यचकित हो गये, लेकिन लोगों की खुशी का ठिकाना भी नहीं रहा. दरअसल बलराम सिंह साल 1991 में अलग झारखंड की मांग के लिए हो रहे आंदोलन के दौरान अन्य आंदोलनकारियों के साथ प्रदर्शन के लिए दिल्ली गया हुआ था. लेकिन इस दौरान बलराम सिंह अन्य साथियों से बिछड़कर दिल्ली में ही खो गया. बलराम सिंह की उम्र उस समय 23 साल थी. उसे ना तो अपने घर का पता मालूम था और ना ही लौटने का जरिया ही पता था.

इसे भी पढ़ेंः रांचीः अपनी मांगों पर अड़ीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आंदोलन के 11 वें दिन मानव श्रृंखला बना किया प्रदर्शन

एक गांव से निकलकर महानगर की चकाचौंध में बलराम सिंह ऐसा खोया कि उसे पता ही नहीं चला कि उसका गांव-घर कहां है और उसे लौटना कैसे है. पिछले 27 सालों तक बलराम सिंह कभी दिल्ली तो कभी गुजरात और मुंबई में एक मजदूर का काम कर अपना पेट पाल रहा था. इस दौरान उसने अपने घरवालों के बारे में पता लगाने की बहुत कोशिश की, लेकिन बलराम अपनी कोशिशों में नाकाम रहा.

गांव के एक युवक ने की मदद

27 साल से अपने घर वापस लौटने की चाह मन में लिए बलराम किसी तरह से अपनी जिंदगी गुजार रहा था. इस बीच करीब एक सप्ताह पहले किसी तरह से उसकी मुलाकात लोहरदगा जिले के एक युवक से हुई तब जाकर उसे अपने घर का पता चला और सारी बातें याद आ गई. उसे याद आ गया कि वह झारखंड राज्य के लोहरदगा जिले में रहने वाला है. इसके बाद बलराम ट्रेन पकड़ कर पहले रांची और फिर लोहरदगा पहुंच गया. जब घर लौटा तो परिवार वाले देख कर आश्चर्य में पड़ गए. उन्होंने तो बलराम की उम्मीद ही छोड़ दी थी. बलराम का कहना है कि यदि लोहरदगा का वह युवक उसे वहां ना मिलता तो शायद आज वह अपने गांव घर वापस नहीं लौट पाता. बलराम ने अभी तक शादी भी नहीं की है. सालों बाद अपने परिवार से मिलकर जहां बलराम बेहद खुश है, वही परिजनों की भी खुशी का ठिकाना नहीं है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na