हाई कोर्ट ने खारिज की छात्रों की याचिका, छठी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा लेने का दिया आदेश 

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/18/2018 - 19:38

Ranchi : झारखंड हाईकोर्ट के जज एसएन पाठक ने छात्र पंकज एवं अन्य की याचिका को खारिज करते हुए छठी जेपीएससी की मुख्य परीक्षा लेने के आदेश दिया है. पंकज एवं अन्य ने कैबिनेट द्वारा जारी किये गये रिजल्ट जिसमें लगभग 40 हजार छात्रों को सफल घोषित किया गया था, उसके खिलाफ याचिका दायर की थी. अब जेपीएससी के छठी सिविल सेवा परीक्षा में लगभग 40 हजार छात्र परीक्षा देंगे. मालूम हो कि जेपीएससी की पीटी परीक्षा का परीक्षा नवंबर 2016 में हुई थी और रिजल्ट 2017 में जारी हुआ था.  

इसे भी पढ़ें - छठी JPSC का तीसरी बार जारी हुआ कटऑफ, 6 हजार से बढ़कर अब 34 हजार अभ्यर्थी देंगे मुख्य परीक्षा  

कट ऑफ मार्क्स को लेकर हुआ था आंदोलन, कैबिनेट ने स्केलिंग के तहत जारी कर दिया था रिजल्ट

पीटी परीक्षा का रिजल्ट जारी होने के बाद ही छात्रों ने कट ऑफ मार्क्स को लेकर आंदोलन कर दिया था. जिसके बाद दोबारा रिजल्ट जारी करना पड़ा था, जिसमें 206 से अधिक अंक लाने वाले सभी छात्रों को पास घोषित कर दिया गया था. तब छात्रों ने नियमावली के आधार पर रिजल्ट जारी करने को लेकर आंदोलन कर दिया. जिसको देखते हुए कैबिनेट ने स्केलिंग के तहत रिजल्ट जारी कर दिया था. अब इसी रिजल्ट को हाईकोर्ट ने भी रिटेन करते हुए परीक्षा लेने के आदेश दे दिया है.

इसे भी पढ़ें - पहले से चल रहे जन-औषधि केंद्रों में पर्याप्त दवा नहीं उपलब्ध,  250 नये केंद्र खोलेंगे प्रधानमंत्री

15 गुणा की तुलना में 122 गुणा रिजल्ट किया जारी

जेपीएससी ने छठी सिविल सेवा परीक्षा के लिए जो नोटिफिकेशन जारी किया था उसमें मुख्य परीक्षा के लिए 15 गुणा ही रिजल्ट जारी करने की बात कही गयी थी, पर पीटी परीक्षा के रिजल्ट में तीन बार संशोधन होने के कारण अब रिजल्ट 122 गुणा हो गया है. वहीं अब भी आंदोलनरत छात्रों का कहना है कि किसी भी हाल में इस रिजल्ट पर परीक्षा नहीं होने दी जायेगी.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na