जामताड़ा : नौकरी के नाम पर कई बेरोजगारों को ठगने वाला गिरफ्तार, पैसे लेकर देता था फर्जी ज्वॉइनिंग लेटर

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 01/09/2018 - 17:54

Jamtara : आये दिन बेरोजगारी से परेशान युवक नौकरी दिलाने के नाम पर मुन्ना भाइयों के शिकार होते रहते हैं. जिले में भी कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है. जिसमें कुछ ठगों ने नौकरी के नाम पर युवकों को अपना शिकार बनाया है. जिले के मिहिजाम थाना क्षेत्र के हिलरोड निवासी महेश ठाकुर भी ठगी के शिकार हुए हैं. महेश ठाकुर से जिला आपूर्ति विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर आरोपी हिलरोड निवासी संतोष सोन ने पांच हजार रूपये नगद ऐंठ लिय़ा.इसके अलावा संतोष ने महेश को जाली ज्वॉइनिंग लेटर भी दिया और बीते साल के 29 दिसंबर को आपूर्ति कार्यालय में ज्वॉइन करने को कहा.

इसे भी पढ़ें - राज्य के सभी मदरसों व स्कूलों में राष्ट्रगान अनिवार्यः नीरा यादव

ज्वॉइनिंग लेटर में लगी थी सीएम की तस्वीर

इस पूरे मामले में सबसे गौर करने वाली बात यह है कि ज्वॉइनिंग लेटर में सीएम की एक रंगीन तस्वीर भी लगी है. इसके अलावा ज्वॉइनिंग लेटर में यह भी लिखा गया है कि झारखंड अनुबंध कर्मचारी चयन आयोग द्वारा अधिसूचना के आदेशानुसार झारखंड के अधिनियम 79/12 के तहत खाद्य आपूर्ति विभाग जामताड़ा में मालगोदाम द्वारा जारी निर्देश के अनुसार महेश कुमार का आवेदन प्राप्त हुआ है. इसके साथ ही लेटर में   आवेदन प्राप्ती के बाद 29-12-2017 को योगदान देने की बात भी कही गयी है. लेकिन इस मामले में सबसे अहम बात यह है कि संतोष ने फर्जी आवेदन में जिला आपूर्ति पदाधिकारी के जगह कार्यपालक अभियंता खाद्य आपूर्ति लिखा और खुद ही आपूर्ति पदाधिकारी का हस्ताक्षर कर महेश ठाकुर को ज्वॉइनिंग लेटर थमा दिया.

इसे भी पढ़ें - मोदी ने रघुवर का नाम तक नहीं लिया, लेकिन अखबारों में छपा पीएम ने सीएम को ‘डायनमिक’ कहा

कृषि विभाग में ले जाता था हाजरी बनाने

पीड़ित युवक महेश कुमार ने इस बारे में बताया कि संतोष उसे हरदिन जामताड़ा कृषि विभाग में हाजिरी बनवाने के लिये ले जाया करता था. महेश ने बताया कि वह विभाग के अंदर जाता था और वहां से एक सादा कागज लाकर उसपर उससे हाजरी बनवाता था. महेश ने इस मामले में खुलासा करते हुए बताया कि, जब उसने  खुद अंदर जा कर हाजरी बनाने की बात की तो उसने इसका विरोध दिया. इसपर उसे शक हुआ और उसने इस को कृषि विभाग में कार्यरत गणेश कुमार से पूछा कि उसकी ज्वॉइनिंग आपूर्ति विभाग में हुआ है और उसे हाजरी कृषि विभाग में बनाने के लिए कहा गया है. गणेश कुमार ने इस बात को गंभीरता से लिया और महेश को आरोपी संतोष सोन को समाहरणालय बुलाने के लिए कहा. जब संतोष समाहरणालय आया तो गणेश कुमार ने उसे पकड़ कर उपायुक्त जामताड़ा के समक्ष उपस्थित किया और पूरे मामले की जानकारी दी. उपायुक्त के निर्देश पर मुख्यालय डीएसपी ने उसे गिरफ्तार किया और नगर थाना लाकर आगे की कार्रवाई की प्रक्रिया की जा रही थी.  

इस पूरे मामले में यह भी खुलासा हुआ है कि संतोष सोनी कई बेरोजगारों को अपना शिकार बना चुका है और  चितरंजन में सीएलडब्लू में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी की घटना को अंजाम दे चुका है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...