झारखंड को मिला एम्स का तोहफा, केंद्रीय कैबिनेट ने दी मंजूरी

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 16:27

New Delhi : बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में  मोदी सरकार की ओर से एक बड़ा तोहफा मिला है. दरअसल कैबिनेट की बैठक में मोदी सरकार की ओर देवघर में एम्स खोलने की मंजूरी मिल गयी है. साथ ही देवघर में मेडिकल कॉलेज खोलने का भी फैसला लिया गया है और इसपर भी कैबिनेट की मुहर लगा दी गयी है. हालांकि लंबे समय से देवघर में एम्स खोलने की मांग की जा रही थी. गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे भी लंबे समय से देवघर में एम्स खोलने की मांग करते आ रहे थे.

 इसे भी पढ़ें - चुनाव जीतने के लिए स्कॉर्पियो-बोलेरो बांट रहे हैं आजसू प्रत्याशी लंबोदर महतो !

रविशंकर प्रसाद ने दी जानकारी


कैबिनेट के बाद प्रेस कॉफ्रेंस करके इस संबंध में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि देवघर में एम्स खोलने की योजना के लिए 1103 करोड़ की राशि मंजूर की गई है. साथ ही उन्होंने बताया कि देवघर के इस प्रोजेक्ट को प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत मंजूरी दी गयी है. देवघर में खुलने वाले अस्पताल एम्स में 750 बेड की सुविधा होगी. उससे भी बढ़कर इसमें ट्रॉमा सेंटर की सुपिधा रहेगी. इससे आगे कॉफ्रेंस में रविशंकर प्रसाद ने बताया कि देवघर में बनने वाले इस मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की 100 सीट होगी. जबकि नर्सिंग के लिए भी 60 सीटें होंगी. इससे भी ज्यादा 20 स्पेशलिटी और सुपर स्पेशलिटी विभाग के इस अस्पताल में 15 ऑपरेशन थियेटर की सुविधा भी होगी. जबकि आयुष विभाग का भी इस अस्पताल में 30 बेड रहेगा.

इसे भी पढ़ें - क्रशर मालिक की नजर में उसके हाथ की कीमत सिर्फ 40 हजार

पीएम ने 2022 तक सबको आवास का भरोसा दियाहम 2020 में ही देंगे: सीएम

उल्लेखनीय है कि  मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा था कि राज्य के हर प्रमंडल अधिकारियों के साथ बैठकें हो रही हैं. केंद्र सरकार की योजनाएं कैसे जमीन पर उतरे उसके लिए योजना तैयार की जा रही है. पीएम मोदी ने कहा कि 2022 तक हर गरीब के सिर पर छत होगी. लेकिन राज्य सरकार ने यह तय किया है कि 2020 तक सभी गरीब को सरकार की तरफ से आवास मुहैया कराया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने कहा था कि केंद्र की योजना है कि गांधी जी की 150वीं जयंती यानि 2019 में स्वच्छ भारत अभियान का मिशन पूरा कर लिया जाएगा. लेकिन झारखंड में स्वच्छ भारत अभियान के तहत 2018 में ही स्वच्छ झारखंड गांधी जी के कदमों में अर्पित कर दिया जाएगा. साथ ही कहा था कि हर स्कूल में बिजलीआंगनबाड़ी में बिजलीप्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बिजली की व्यवस्था करने में सरकार जुटी हुई है. कहा कि प्रमंडल स्तर के बैठकों में डायन प्रथाशिक्षा और स्वास्थ्य के अलावा गरीबी उन्मूलन हर तरह की योजना पर समीक्षा की जा रही है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलोभी कर सकते हैं.

na