खूंटी : डीसी के हवाले से अखबार में दुर्गी देवी को राशि और राशन मिलने की खबर, जबकि हकीकत कुछ और...

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/13/2018 - 21:54

Khunti : खूंटी प्रखंड की बारूडीह पंचायत के डड़गामा गांव की सोसोडीह टोला निवासी दुर्गी देवी अपने पति की मौत के बाद काफी दयनीय अवस्था में जीवनयापन कर रही थी.  दुर्गी देवी को दो साल से राशन  मिलना बंद है. सरकार की ओर से राशन और पेंशन नही मिलने के कारण वह दयनीय अवस्था में अपना जीवन गुजर बसर कर रही है. इस संबंध में जब  सोशल मीडीया में खबरें आयीं,  तो राज्य के एक  अखबार ने 5 अप्रैल को डीसी सूरज कुमार के हवाले से खबर प्रकाशित की.  जिसमें कहा गया कि इस संबंध में जब डीसी सूरज कुमार को जनकारी मिली, तो उन्होंने कार्रवाई करते हुए दुर्गी देवी को पेंशन और राशन  उपलब्धि कराने के लिए सीओ विजय कुमार और जिला आपूर्ति पदाधिकारी को निर्देश दिया.  साथ ही उसे तुरंत राशि व राशन उपलब्ध कराये गये और राशन कार्ड बनवाने की प्रक्रिया शुरू की गयी. लेकिन अखबार में प्रकाशित खबर कि दुर्गी देवी को राशन और राशि मिली, गलत निकली.  

इसे भी पढ़ें - कंपनी कमांडर ने महिला होमगार्ड से कहा- तुम्हें रात में ड्यूटी करनी होगी, महिला ने लगाया शारीरिक शोषण का आरोप

paper

राशन और पेंशन उपलब्ध करने प्रक्रिया शुरू की गयी है 

जबकि जिला प्रशासन की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में स्पष्ट लिखा गया है कि दुर्गी  देवी को राशन और पेंशन उपलब्ध करने प्रक्रिया शुरू की गयी है. जिला प्रशासन ने ऐसा कोई दावा नहीं किया था,  जिसमें दुर्गी देवी को राशन और राशि दी गयी हो.  जबकि अखबार में दुर्गी देवी को राशन उपलब्ध किये जाने की  खबर प्रकाशित की गयी थी.  नरेगा सहायता केन्द्र के कार्यकर्ता जब अखबार में छपी खबर का सत्यापन करने गये, तो जो सच सामने आया. 

इसे भी पढ़ें - अफसाना हत्याकांड के खिलाफ प्रदर्शन : सरकार को चेतावनी, “दोषियों को गिरफ्तार करो अन्यथा घेरेंगे सीएम हाउस”

राशन एवं राशि मुहैया नहीं कराये गये हैं :  दुर्गी देवी

जब नरेगा सहायता केंद्र और भोजन का अधिकार अभियान के कार्यकताओं ने दुर्गी देवी से बात कर इस बात का सत्यापन किया,  तो दुर्गी देवी ने बतलाया कि उन्हें किसी भी तरह का राशन एवं राशि मुहैया नहीं कराई गयी है. हालाकि प्रशासन द्वारा दुर्गी देवी का अन्त्योदय राशन कार्ड बना दिया गया है. लेकिन प्रशासन की ओर से उन्हें इस बात की जानकारी अभी तक नहीं दी गयी है.  बता दें कि राशन कार्ड बनने के बाद राशन मिलने में कम से कम एक महीना लगता है. भोजन का अधिकार अभियान के कार्यकताओं ने जब दुर्गी देवी से बात की कि क्या प्रशासन ने राशन और राशि उपल्बध कराई है,  तब दुर्गी देवी ने बतलाया कि उन्हें किसी भी तरह का राशन एवं राशि मुहैया नहीं कराये गये हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब