...तो ओपन जेल में बड़े नक्सलियों के साथ रहेंगे लालू यादव!

Submitted by NEWSWING on Sat, 01/06/2018 - 21:02

सीबीआई जज ने ओपेन जेल में रखने की सलाह के बाद चर्चा में हजारीबाग का ओपेन जेल

Hazaribagh : चारा घोटाला मामले में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को कोर्ट ने साढ़े तीन साल की सजा सुना दी. लंबी सुनवाई और इंतजार के बाद शनिवार को सीबीआई कोर्ट के जज शिवपाल सिंह ने लालू को सजा सुनायी. सजा सुनाने के दौरान जज शिवपाल सिंह ने कहा कि कुछ अभियुक्तों को गाय पालने का अनुभव है इसलिए उन्हें ओपन जेल में रखना चाहिए. जज की इस टिप्पणी के बाद यह कयास लगाये जा रहे हैं कि अगर उनकी सलाह पर अमल किया गया तो राजद सुप्रीमो और आरके राणा को हजारीबाग ओपन जेल में रखा जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः चारा घोटाला मामले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा, 5 लाख जुर्माना

इसे भी पढ़ेंः जिस राज्य में लोग भूख से मरते हैं, वहीं के गोदाम में सड़ जाता है 1098 क्विंटल अनाज (देखें वीडियो)

जेल में पहले से बंद हैं कई हार्डकोर नक्सली

अगर लालू प्रसाद यादव को हजारीबाग ओपन जेल में रखा जाता है तो उन्हें की हार्डकोर नक्सलियों के साथ रहना पड़ेगा. बता दें कि इस जेल में पहले से ही 17 आत्मसमर्पण कर चुके नक्सली बंद हैं. इनमें से कई की गिनती हार्डकोर औप बड़े नक्सली में होती है. 50 लाख का ईनामी नक्सली रहे बड़ा विकास उर्फ बालकेश्वर उरांव, लातेहार में 2013 में पुलिस के साथ मुठभेड़ में शहीद जवानों के पेट मे बम फिट करने के साथ दर्जनों बड़ी घटनाओं के आरोपी गजेंद्र साव उर्फ गुज्जु साव, एक महिला नक्सली सहित 17 नक्सली बंद हैं. राजद प्रमुख को इन्हीं बंद नक्सलियों के साथ जेल में सजा काटनी होगी.

इसे भी पढ़ेंः जिस राज्य में लोग भूख से मरते हैं, वहीं के गोदाम में सड़ जाता है 1098 क्विंटल अनाज (देखें वीडियो)

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...