लालू ने सुशील मोदी पर साधा निशाना, कहा राज्य का मान गिराया है

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 02/17/2018 - 21:08

Ranchi : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि राष्ट्रमंडल सम्मेलन में उन्होंने जितना फुहड़ व्यवहार किया है, उससे बिहार और देश का मान नीचे गिरा है. लालू ने कहा कि मोदी ने सम्मेलन में जिस तरह मेरे और राज्य के अन्य मुख्यमंत्री के जेल जाने की बातें कही है, वह बेहद आपत्तिजनक है. ऐसी बातें कहकर सुशील मोदी ने अपना चरित्र उजागर किया है. सम्मेलन में देश और विदेश से लोग आये हैं. संसदीय समिति आती-जाती हैघूमती है,  देखती है और उसका रिब्यू होता है. इसके बाद एजेंडा तय होता है. हमलोगों और अन्य लोगों के विषय में वह जो बोले वह निंदनीय है. लालू शनिवार को चारा घोटाला मामले में पेशी के बाद कोर्ट परिसर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सचः एक माह पुरानी, एक लाख की कंपनी से सरकार ने किया 1500 करोड़ का करार

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सच- 2: तीन कंपनियों की कुल पूंजी तीन लाख, एमओयू 2800 करोड़ का

सरकार भ्रष्टाचार में डूबी है

लालू प्रसाद यादव ने केंद्र की मोदी और बिहार के नीतीश सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि दोनों जगहों की सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हुई है. उन्होंने कहा कि पीएनबी में 11हजार करोड़ रुपये का घोटाला हो गया. मोदी बोलते थे, ना खायेंगे, नहीं खाने देंगे और सारा पैसा गायब करके नीरव मोदी चला गया. रक्षा सौदा में भी घोटाला हो रहा है. वे हमलोगों के बारे में बोल रहे हैं. हमलोग जिस मामले में हैं वह अंडर ट्रायल है. यह अंतिम कोर्ट नहीं है. इसके उपर हाइकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट है. उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि भाजपा का ऐसा कौन नेता हैजो खेत जोतकर खाता-पीता है. सभी लूटकर खाते हैं. सुशील मोदी ने जैसा व्यवहार किया हैउन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए. लालू ने एक सवाल के जवाब में कहा कि नीतीश महिला आरक्षण की मांग कर रहे हैं. राज्य और केंद्र में उन्हीं की सरकार है. महिलाओं को आरक्षण दे उन्हें किसने रोका है.

इसे भी पढ़ें- मोमेंटम झारखंड का सच-अंतिम : बिना टेंडर के सरकार ने तीन कंपनियों को दिया आयोजन का जिम्मा

कोर्ट से निकलकर लालू ने भिखारन को दिया सौ रुपया

लालू ने कोर्ट से निकलने के दौरान एक भीखारन को 100 रुपये दिये. इसपर भीखारन रीता बोली हम नहीं जानते थे कि वे लालू हैं. हमारा चावल-दाल का खर्चा निकल गया. मौके पर राजद के विधायक भोला यादवविजय यादव सहित कई नेता मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सच-03: 6400 करोड़ का एमओयू ऐसी कंपनी के साथ जिसका कहीं नामोनिशान नहीं

डोरंडा कोषागार मामले में नहीं उपस्थित हो सके गवाह, अगली सुनवाई सोमवार को  

डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव शनिवार को सीबीआई के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत में पेश हुए. मामले में सीबीआई की ओर से गवाही होनी थी. लेकिन गवाह के नहीं आने से गवाही नहीं हो सकी. इस मामले में पूर्व सांसद डॉ आरके राणा और जगदीश शर्मा सहित अन्य आरोपी भी पेश हुए. अदालत ने सुनवाई की अगली तिथि 19 फरवरी निर्धारित की है. यह मामला डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है. वही चारा घोटाले के दुमका कोषागार से अवैध निकासी संबंधित आरसी 38 ए/96 मामले में शनिवार को लालू प्रसाद यादव सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में पेश हुए. मामले में बचाव पक्ष की ओर से बहस हुई.

पूर्व मंत्री एनोस एक्का मनी लाउंड्रिंग मामले में पेश

पूर्व मंत्री एनोस एक्का ईडी के विशेष न्यायाधीश एके मिश्रा की अदालत में शनिवार को पेश हुये. अदालत ने मामले में सुनवाई की अगली तिथि 19 फरवरी निर्धारित की है. अदालत ने उक्त तिथि को एनोस को सशरीर उपस्थित होने का आदेश दिया है. अधिवक्ता संजय कुमार ने बताया कि पूर्व मंत्री एनोस एक्का मनी लाउंड्रिंग और आय से अधिक संपत्ति मामले में उपस्थित हुए थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप