लालू प्रसाद के बेल बांड से संबंधित कानूनी प्रक्रिया पूरी, पासपोर्ट सरेंडर कर पटना रवाना हुए

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 21:03

Ranchi : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बेल बांड से संबंधित कानूनी प्रक्रिया बुधवार को सिविल कोर्ट में पूरी कर ली गयी. चारा घोटाला के तीन मामलों में सीबीआई के दो विशेष कोर्ट में लालू प्रसाद की ओर से बेल बांड भरे गये.  तीनों मामलों  में 50 - 50 हजार रुपए के छह बेल बांड भरे गये. इसके साथ ही लालू से संबंधित रिलीज आर्डर अदालत से जारी हो गया. रिलीज आर्डर बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में भेज दिया गया.  चारा घोटाले में जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का रिलीज आर्डर बुधवार शाम को जेल पहुंचा. सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद उन्हें शाम करीब 4 बजे रिलीज कर दिया गया. उसके बाद इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट से लालू प्रसाद सीधे पटना रवाना हो गये. बता दें कि दुमका और देवघर कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला मामले में लालू के बेल बॉन्ड भराने से संबंधित कार्यवाही पासपोर्ट जमा करने को लेकर कुछ देर तक अटक गयी थी. सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में उन्हें पासपोर्ट जमा करने को कहा गया. इसके लिए जेल से लालू प्रसाद द्वारा लिखकर भेजे गये आवेदन को कोर्ट में जमा किया गया. इसमें लालू ने कहा कि उनकी ओर से पासपोर्ट दुमका कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला  38 ए/96 में ट्रायल के दौरान ही जमा कर दिया गया था. कोर्ट ने इस पर सीबीआई से रिपोर्ट मांगी. सीबीआई द्वारा यह बताये जाने के बाद कि लालू प्रसाद का पासपोर्ट जमा है. यह कोर्ट के रिकॉर्ड में हैतब अदालत ने जांच के बाद बेल बांड को सही पाते हुए स्वीकार किया और रिलीज आर्डर जारी किया. गौरतलब है कि हाईकोर्ट से प्रोविजनल बेल मिलने के आदेश में यह शर्त है कि लालू प्रसाद अपना पासपोर्ट निचली अदालत में सरेंडर करेंगे.

इसे भी पढ़ें - साफ हुआ लालू की रिहाई का रास्ता, आज शाम जायेंगे पटना

तीन मामले और छह बेलर      

इसके पूर्व ही सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एसएस प्रसाद की अदालत में चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित मामले में लालू की ओर से बेल बांड भरा गया था. लालू के चारा घोटाला के अलग-अलग तीन मामलों में छह बेलर ( जमानतदार) बनाये गये हैं. देवघर मामले में चारा घोटाला आरसी 64 ए /96 में राजद के प्रदेश प्रवक्ता डॉ मनोज कुमार, हजारीबाग के राजद कार्यकर्ता भुनेश्वर पटेल बेलर बनाये गये है. वहीं दुमका कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला कांड संख्या आरसी 1996 में राजद के पूर्व विधायक जनार्दन पासवान और राजद कार्यकर्ता मसूद आलम जमानतदार बने. दोनों मामलों में लालू प्रसाद को सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में सजा सुनाई गयी है. इसलिए उनकी अदालत में ही बेल बांड भरा गया. वहीं चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला आरसी 68ए/96 में राजद के प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी और पूर्व विधायक संजय कुमार सिंह यादव जमानतदार बनाये गये हैं.

इसे भी पढ़ें - सबकी नजर सिर्फ आम्रपाली-मगध पर, अशोका, पिपरवार, पुरनाडीह व रोहिणी कोलियरी में भी होती है हर माह करीब 12 करोड़ की वसूली

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलोभी कर सकते हैं.

na