बीएसएल के खिलाफ इनकम टैक्स की बड़ी कार्रवाई, बोकारो एसबीआई का बीएसएल अकाउंट अटैच, वसूले 3.80 करोड़ बकाया 15.20 करोड़ बकाया

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 03/10/2018 - 17:53

Akshay Kumar Jha


Ranchi/Bokaro:  इनकम टैक्स ने सेल (स्टील ऑथरिटी ऑफ इंडिया) की इकाई बीएसएल (बोकारो स्टील लिमिटेड) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. विभाग ने बीएसएल के बोकारो स्टील स्थित सेक्टर-4 ब्रांच के एक अकाउंट को अचैट किया है. अटैच करने के बाद कार्रवाई करते हुए विभाग ने बीएसएल से अपने बकाये के 3.80 करोड़ वसूल किए हैं. मामला टैक्स की चोरी से जुड़ा हुआ है. दरअसल इनकम टैक्स ने बीएसएल की टीसीएस (टैक्स कलेक्शन एट सोर्स) में गड़बड़ी पाया था. बीएसल ने स्लैग, स्क्रैप और दूसरे चीजों की बिक्री में टीसीएस खरीदारों से तो वसूल किया, लेकिन इनकम टैक्स को इसका भुगतान नहीं किया. नतीजतन इनकम टैक्स को कार्रवाई करनी पड़ी. कार्रवाई के तहत विभाग  बीएसएल के एक अकाउंट को अटैच कर अपनी बकाया रकम वसूल करने का काम कर रहा है. 

इसे भी पढ़ें- जामताड़ा एसपी का रीडर महिला सिपाहियों से कहता था - खुद को मुझे सौंप दो, अच्छी पोस्टिंग करवा दूंगा

बीएसएल ने  की है 19 करोड़ की टैक्स चोरी
पांच दिसंबर 2017 को इनकम टैक्स के अधिकारियों ने स्पॉट वेरिफिकेशन करते हुए इस टैक्स चोरी का पता लगाया था. विभाग ने बीएसएल के प्रशासनिक भवन में इस मामले में कई अधिकारियों से पूछताछ की थी. पूछताछ में विभाग ने बीएसएल के मार्केटिंग डिपार्टमेंट के कई बड़े अधिकारियों को शामिल किया था. कार्यपालक निदेशक (वित्त) आर. कृष्णास्वामी से पूछताछ के बाद वित्त विभाग के डीजीएम को भी पूछताछ के लिए बुलाया था. बताया जा रहा है कि बीएसएल कंपनी के स्क्रैप को टेंडर के जरिए बेचता था, जिसके एवज में टीसीएस वसूलता था, लेकिन इनकम टैक्स को इसका भुगतान नहीं करता था. अपनी जांच में इनकम टैक्स ने पाया कि बीएसएल ने करीब 19 करोड़ की टैक्स चोरी की है.     

इसे भी पढ़ें- मगध व आम्रपाली कोल परियोजन में प्रति ट्रक 2300 रुपये की वसूली, महीने में वसूली का हिसाब 6.90 करोड़

सालाना 300 करोड़ का स्क्रैप बेचता था बीएसएल, पांच सालों से हो रही थी गड़बड़ी
अपनी जांच में इनकम टैक्स ने पाया कि बीएसएल सालाना करीब 300 करोड़ रुपए का स्क्रैप और दूसरी सामग्री टेंडर के जरिए बाजार में बेच देता था. इस प्रक्रिया में बीएसएल खरीदारों को टैक्स में छूट के लिए फॉर्म 27 भरने को दिया जाता था. ऐसे काम को विभाग एक बड़ा फर्जीवाड़ा मानता है. जिसके तहत इनकम टैक्स ने बोकारो के सेक्टर-4 के एक अकाउंट को अचैट कर लिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बीएसएल ऐसा करीब पांच साल से करता आ रहा है. हालांकि मामले पर एसबीआई की रिजनल मैनेजर रंजीता शरण सिंह ने कुछ भी कहने से मना कर दिया. उन्होंने कहा कि बैंक किसी कस्टमर की निजी जानकारी मीडिया को नहीं दे सकता. वहीं मामले पर बीएसल के सीओसी (चीफ ऑफ कम्यूनिकेशन) मणिकांत धान ने कहा कि इस विषय पर फिलहाल कुछ भी नहीं कह पाऊंगा.

इसे भी पढ़ें- एचईसी के आधुनिकीकरण की योजना के लिए तैयार है रिपोर्ट, केंद्र सरकार जल्द लेगी निर्णय: भारी उद्योग मंत्री

पूरी वसूली होने के बाद ही हटेगा अचैटमैंटः डिप्टी कमिश्नर इनकम टैक्स 
डिप्टी कमिश्नर इनकम टैक्स ने न्यूज विंग से बात करते हुए कहा कि बीएसएल बोकारो के सेक्टर-4 के एक अकाउंट को अटैच किया गया है. विभाग को बीएसएल से 19 करोड़ की वसूली करनी है. फिलहाल विभाग ने बीएसएल से 3.80 करोड़ की वसूली की है. बाकी राशि की वसूली करने के लिए बीएसएल पर दबाव बनाया जा रहा है. जबतक पूरी वसूली नहीं होगी अचैटमेंट नहीं हटाया जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप