लातेहार : सुरक्षा बलों ने दिया नक्सलग्रस्त स्कूल को लाइब्रेरी का तोहफा, सैकडों ग्रामीणों को कराया वनभोज

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 01/21/2018 - 15:26

Latehar : लातेहार जिला के अति नक्सलग्रस्त गारू प्रखंड के डोमाखांड ग्राम स्तिथ राजकीय अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय को सीआरपीएफ ने लाइब्रेरी तोहफे में दिया है. दरअसल सुरक्षाबल सीआरपीएफ 214 बटालियन द्वारा सिविक एक्शन कार्यकर्म के तहत पुस्तकालय कि स्थापना की गयी. स्कूल में लाइब्रेरी की स्थापना होने से स्कूल के बच्चों में काफी उत्साह देखा गया. सीआरपीएफ के जवानों ने मौके पर चोट से घायल बच्चों का प्राथमिक उपचार कर मरहम पट्टी किया. डोमाखांड के सैकडों बच्चों सहित ग्रामीणों को जवानों ने वन भोज कराया.

इसे भी पढ़ें- अवैध वसूली मामले में इंफोर्समेंट ऑफिसर पर हुई कार्रवाई, तीनों से सभी शक्तियां ली जायेंगी वापस

कार्यक्रम से नक्सल विरोधी अभियानों में ग्रामीणों का मिलता है साथ

कार्यकर्म को सम्बोधित करते हुए पलामू सीआरपीएफ 214 बटालियन के डीआईजी जयंत पॉल ने बताया कि सीआरपीएफ द्वारा जनहित में लगातार इस तरह के कार्यक्रम किये जाते हैं. इससे जनता और सुरक्षा बल के बीच की दूरियां कम होती है. इस तरह कार्यक्रम करने से नक्सल विरोधी अभियानों में ग्रामीणों का साथ मिलता है. पुस्तकालय की स्थापना होने से बच्चों का ध्यान नकारात्मक बातों की ओर नहीं जायेगा बच्चों में सकारात्मक सोच जागेगी.

बच्चे बढ़ेंगे तो बढ़ेगा ज्ञान

सीआरपीएफ 214 बटालियन के कमांडेंट अजय सिंह ने बताया कि पुस्तकालय में तीन आलमीरा 33 कुर्सियां, चार टेबल, 150 विभिन्न तरह कि कहानियों की किताबें सहित शब्दकोश उपलब्ध कराये गये हैं. इससे बच्चे पढ़ेंगे तो उनका ज्ञान बढ़ेगा और वे मुख्य धारा में रहेंगे.

इसे भी पढ़ें : इंफोर्समेंट टीम की मनमानी और जबरदस्ती से तंग हैं रांची के दुकानदार

शिक्षक ने किया सीआरपीएफ का आभार व्यक्त

राजकीय अनुसूचित जन जाती आवासीय विधालय डोमाखांड के शिक्षक तुला महतो ने सुरक्षा बलों को धन्यबाद देते हुए आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि पुस्तकालय की स्थापना होने से निश्चित तौर पर ग्रामीणों के बच्चों का ज्ञान बढ़ेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.