जानिए कैसे झुर्रियों को निमंत्रण दे रहा है सेल्फी का शौक

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 04/03/2018 - 12:17

News Wing Desk : आज के समय में हर जिसे देखों सेल्फी लेने में लगा रहता है, सेल्फी का शौक इतना बढ़ गया है कि लोग कही भी सेल्फी लेना शुरू कर देते है फिर चाहे वो पब्लिक प्लेस हो, प्राइविट प्लेस हो, किचन हो , बाथरूम हो. सेल्फी का शौक अब सिर्फ युवाओं तक ही सीमित नहीं रह गया है, बल्कि अब ये उम्रदराज लोगों के भी सिर चढ़कर बोल रहा है. हम लोग सोशल मीडिया पर अक्सर देखते हैं कि युवाओं के साथ ही उम्रदराज लोग भी चाहे मंदिर जा रहे हों या फिर किसी पार्टी फंक्शन में सबसे पहले अपनी सेल्फी लेते हैं. और तो और अब तो लोग अपने लुक को लेकर कैमरे पर भी विश्वास नहीं करते हैं. उन्हें लगता है जितने अच्छे और फिट वे सेल्फी में दिख सकते हैं उतने कैमरे में नहीं.

इसे भी पढ़ें:  रबड़ से बने बत्तखनुमा खिलौने से हो सकती है कीटाणु जनित बीमारी

स्मार्टफोन से निकलने वाली रेडिएशन और लाइट से पहुंचता है नुकसान

अगर आप भी सेल्फी का शौक पाले बैठे हैं तो सावधान हो जाएं. स्किन डॉक्टरों की गाइडलाइन के मुताबिक स्मार्टफोन से निकलने वाली रेडिएशन और लाइट आपके चेहरे पर झुर्रियों को निमंत्रण दे रही है. जिससे आपके चेहरे पर जल्दी बुढ़ापा आ सकता है. यूनाइटिड किंगडम की लिनिया स्किन क्लिनिक के मेडिकल डॉयरेक्टर ​शिमोन जोइकी का कहना है कि सेल्फी लेेते वक्त हम जिस हाथ से अपना स्मार्टफोन पकड़ते हैं और फेस के जिस तरफ से ज्यादा सेल्फी लेते हैं चेहरे का वह हिस्सा जल्दी बेकार होने लगता है. इतना ही नहीं हमारी फोन स्क्रिन से आने वाली ब्लू लाइट हमारी स्किन को पूरी तरह से क्षति पहुंचा रही है. जिसका बड़ा दुष्परिणाम चेहरे पर जल्दी झुर्रियां आना भी है.

ुपिुपिुप

 

इसे भी पढ़ें:  क्या आपका बच्चा नहीं मानता आपकी बात, तो करें ये उपाय.......

फोन से निकलने वाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन सीधा प्रभावित करती है डीएनए को

एक्सपर्ट्स का कहना है कि फोन से निकलने वाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन सीधा हमारे डीएनए को प्रभावित करती है. इसके बाद ये रेडियन डीएनए के माध्यम से हमारी स्किन में जाती है. जिससे हमारी स्किन खराब होती है. अगर आप इस बात को लेकर भी कन्फ्यूज रहते हैं कि अच्छे खानपान के बावजूद आपको चेहरा ग्लो क्यों नहीं करता तो उसका एक कारण आपका सेल्फी शौक भी हो सकता है.

े्ेो््

 

इसे भी पढ़ें: हनीमून के बाद बढ़ रहा है बेबीमून का क्रेज, प्रेग्नेंसी के दौरान करें सैर-सपाटा

 सोशल मीडिया से बढ़ा है सेल्फी का क्रेज

एक्सपर्ट कहते हैं कि सेल्फी का क्रेज ज्यादातर सोशल मीडिया से बढ़ा है. लोग खुद को बेहतर और स्टाईलिश साबित करने के चक्कर में सेल्फी लेते हैं और सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं. इन सेल्फी के लिए आपको खूब सारी तारीफ और कॉम्प्लीमेंट जरूर मिल रहे हो. लेकिन शायद सेल्फी लेने वालों को इस बात का अंदाजा भी नहीं है कि सेल्फी लेना हमारे चेहरे और स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है.

्िे्ििप

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...