रामगढ़ में कलंकित हुई ममता : दुधमुंही बच्चे का मां ने पहले गला रेता फिर उसे लेकर कुएं में लगा दी छलांग

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 12/30/2017 - 16:47

Ramgarh : मजबूरी या तनाव कितनी भी क्यों न हो, कोई मां अपने बच्चे की हत्या तो नहीं कर सकती. पर रामगढ़ में शनिवार को ऐसा ही दिल दहलाने वाला घटना सामने आया है. यहां एक मां ने बड़ी निर्दयीता के साथ अपनी ही दूधमुंही बच्ची की हत्या गला रेत कर कर दी. बच्चे की हत्या करने के बाद उसने भी कुएं में छलांग गला दी. पर आसपास के लोगों ने उसे बचा लिया. वहीं पुलिस ने आरोपी मां को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की छानबीन में जुट गयी है. घटना रामगढ़ थाना क्षेत्र के रांची रोड की है. इधर लोगों ने बच्चे को मेडिका रामगढ़ में भर्ती कराया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. घटना शनिवार को करीब 9:30 सुबह की है.

इसे भी पढ़ेंः क्या "इस बार बेदाग सरकार" कहने वाली रघुवर सरकार ने भी राजबाला वर्मा को बचाने का काम किया

इसे भी पढ़ेंः रांची : वार्ड तीन है ड्राई जोन, सड़क से लेकर राशन कार्ड तक की समस्याओं से लोग हैं परेशान

पांच दिन पहले आयी थी मायके, शनिवार को आ रहा था पति

जानकारी के अनुसार रांची रोड के पलामू कॉलोनी में स्वर्गीय दारा सिंह की पुत्री तनु का तीन वर्ष पहले गया के टिकारी के रहने वाले जगन्नाथ गौतम से शादी हुई थी. जगन्नाथ गौतम गया में शिक्षक का काम करते हैं. तनु पांच दिन पहले अपने मायके रामगढ़ आयी थी. तनु का डेढ़ वर्षीय पुत्र आरव गुप्ता भी मां के साथ गया से रामगढ़ आया. वहीं तनु का पति जगन्नाथ गौतम शनिवार को सुबह गया से रामगढ़ ट्रेन से आ रहा था. पुत्र आरव बार-बार अपने पिता को फोन कर रहा था. जगन्नाथ गौतम के अनुसार पुत्र आरव ने उसे सुबह आठ बजे तक फोन किया. वह फोन पर बार-बार पिता को आने के लिए कह रहा था. यह बातें जगन्नाथ गौतम ने खुद बताया है. वहीं घटना की सूचना 9:45 बजे के लगभग रामगढ़ थाना पुलिस को मिली. रामगढ़ के थाना प्रभारी राजेश कुमार सदलबल पलामू कॉलोनी पहुंचे.

ramgarh

 

एक वर्ष से तनाव में थी तनु

पुलिस रांची रोड स्थित मेडिका अस्पताल पहुंची. मेडिका अस्पताल में चिकित्सक डॉ नेहा जैन ने बच्चे आरव को देखकर मृत घोषित कर दिया. डॉ नेहा ने कहा कि बच्चे के गले में गहरा जख्म होने के कारण काफी खून बह गया था. पानी में डूबने के कारण छाती में पानी चला गया था. जिससे बच्चे की मौत हो गयी. वहीं तनु के मुहल्ला के लोगों ने बताया कि तनु ने अपने बेटे  को लेकर कुआं में कूदकर आत्महत्या करना चाहा. लेकिन भीड़ लग जाने के कारण लोगों ने तनु को कुआं से जिंदा निकाल लिया. तनु के पैर में भी चोट लगी है. मुहल्ले के लोगों ने बताया कि तनु पिछले एक वर्ष से काफी तनाव में चल रही थी. तनाव में आकर वह ऐसी घटना को अंजाम दे सकती है, इसका अंदाजा नहीं था.

इसे भी पढ़ेंः टॉप पोस्ट को लेकर नौकरशाहों की जंग तेज

हत्या में प्रयुक्त हंसुआ और चाकू बरामद

वहीं इस संबंध में रामगढ़ थाना प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि रांची रोड के पलामू कॉलोनी में शनिवार की सुबह एक बच्चे और एक महिला को कुएं से निकालने की सूचना मिली. जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची. बच्चे को तत्काल मेडिका अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया. थाना प्रभारी ने कहा कि अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि हत्या किसने की है. बच्चे की मां कुछ बोलने की हालत में नहीं है. पुलिस ने बच्चे की हत्या में प्रयुक्त हंसुआ और चाकू को बरामद कर लिया है. पलंग पर से बच्चे के बाल को भी बरामद किया गया है. रामगढ़ महिला थाना प्रभारी शकुंतला नाग एवं पुलिस अधिकारी ममता कुमारी पलामू कॉलोनी पहुंचकर तनु देवी को हिरासत में ले लिया है. पुलिस ने तनु देवी को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा है. वहीं गया से रामगढ़ पहुंचने पर बच्चे के पिता जगन्नाथ गौतम को जब यह बात पता चला तो उसकी हालत खराब हो गयी. रो-रो कर उसका बुरा हाल है. उसने बताया कि सुबह आठ बजे तक बेटा मोबाइल पर उससे लगातार बात करता रहा. यह घटना कैसे घटी वह आश्चर्य में पड़कर रो रहा है. उसने बताया कि पिछले कुछ समय से तन्नू मानसिक तनाव में चल रही है. वहीं पुलिस ने बच्चे के शव को कब्जे में ले लिया है.

इसे भी पढ़ेंः बिजली में सुधार से गांवों के लोग भी कर रहे टीवी, एसी का इस्तेमाल : नीतीश कुमार

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
Top Story
loading...
Loading...